छत्तीसगढ़। बीजापुर जिले में पुलिया के पास भटटीपारा निवासी रत्नैया पुजारी का शव 3 जनवरी को मिला था। परिजनों ने थाना में अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या की जाने की रिपोर्ट की थी। इसपर थाना बीजापुर में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक बीजापुर कमलोचन कश्यप के दिशा निर्देशन में थाना प्रभारी बीजापुर शशिकांत भारद्वाज के हमराह टीम द्वारा मौके पर घटनास्थल का निरीक्षण कर परिजनों से पूछताछ की गई। परिजनों ने कोई जानकारी न होना बताया। मुखबिर से मिली सूचना एवं प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर परिजनों से कड़ाई पूछताछ करने पर मृतक की पत्नी कौशिल्या एवं बडी बेटी ने अपराध कराना कबूल किया। मृतक रत्नैया पुजारी के द्वारा शराब के नशे में मारपीट से तंग आकर रात में सोते समय हाथ पैर को रस्सी से बांधकर कुल्हाड़ी से मारकर हत्या करना बताया। हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिये शव को कंबल एवं चादर में लपेटकर अपने साथी मनोहर यादव की मदद से तुमनार रोड पर निर्मित बड़ी पुलिया के पास फेंकना बताया। आरोपियों के कथन के आधार पर घटना में प्रयुक्त टंगिया, रस्सी, कंबल एवं चादर बरामद किया गया। मंगलवार को थाना बीजापुर में गिरफ्तार आरोपियों के विरूद्ध कार्यवाही के बाद रिमाण्ड पर न्यायालय बीजापुर पेश किया गया।