मध्य प्रदेश के शहडोल (Shahdol) मेडिकल हॉस्पिटल में शनिवार रात की दरमियान 12 कोरोना संक्रमित गंभीर मरीजों ने ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़ दिया है.

इस मामले में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, "उनकी शहडोल के मेडिकल डीन से बात हुई है जिन मरीजों की मौत हुई है. वे गंभीर अवस्था में थे. ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई. जरूरत होगी तो इस मामले की जांच कराएंगे."

ये भी पढ़ें: बिहार में लगा नाइट कर्फ्यू, कोरोना के 8,690 नए केस, जानें क्या खुला रहेगा और क्या बंद

वहीं शहडोल मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ मिलिंद शिलारकर का कहना है कि कोरोना के 62 मरीज गंभीर अवस्था में थे और रात में ऑक्सीजन का प्रेशर कम हो गया था. आपको बता दें कि सबसे पहले रात 12.30 बजे दो मरीजों की मौत हुई थी, इसके बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया. वहीं मरीजों के परिजनों को अस्पताल प्रशासन किसी भी प्रकार की जानकारी देने से मना कर दिया. वहीं रात 2 बजे के बाद मरने वालों की संख्या 6 हुई तो सुबह होते होते यह आंकड़ा 12 मरीजों की मौत के रूप में सामने आया.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना की सुनामी, एक दिन में सामने आए रिकॉर्ड 25,462 नए केस

कलेक्टर शहडोल सतेन्द्र सिंह ने शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में मरीजों की मृत्यु के संबंध में बताया कि मरीजों की मृत्यु ऑक्सीजन आपूर्ति की कमी से नहीं हुई है. इसकी आपूर्ति निर्बाध है. जिन मरीजों की मृत्यु हुई है वह गंभीर थे.

ये भी पढ़ें- UP में फिर टूटा कोरोना संक्रमण का रिकॉर्ड, एक दिन में 27 हजार केस के साथ 120 मौत

जबलपुर में भी 5 मरीज तोड़ चुके है दम

इससे पहले 15 अप्रैल को जबलपुर में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 5 मरीजों की मौत हो गई थी. वह भी सभी वेंटिलेटर पर थे. वहीं 4 की हालत गंभीर हो गई थी. पहली मौत वेंटिलेटर पर 82 वर्षीय महिला की हुई थी. जबकि 4 लोगों ने सुखसागर मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ा था. इसके बाद भी शासन प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया.

ये भी पढ़ें: IPL 2021 RCB vs KKR Live: RCB ने लगाई जीत का हैट्रिक, KKR को 38 रन से हराया

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का आरोप- सरकार झूठे आंकड़े परोस रही

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा, "शिवराज जी आप कब तक ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर झूठे आंकड़े परोसकर झूठ बोलते रहेंगे जनता रूपी भगवान रोज़ दम तोड़ रही है प्रदेश भर की यही स्थिति अधिकांश जगह ऑक्सीजन का भीषण संकट."

पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति के झूठे आंकड़े पराेस रही है. उन्होने सोशल मीडिया पर लिखा, "अब शहडोल में ऑक्सीजन की कमी से मौतों की बेहद दुखद खबर. भोपाल. इंदौर, उज्जैन, सागर, जबलपुर एखंडवा और खरगोन में ऑक्सीजन की कमी से मौतें होने के बाद भी सरकार नहीं जागी. कब तक प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से यूं ही मौतें होती रहेंगी."

ये भी पढ़ें: CM केजरीवाल ने पत्र लिखकर PM मोदी से मांगी COVID19 के मरीजों के लिए बेड और ऑक्सीजन की मदद