नयी दिल्ली, 25 मई (भाषा) दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं आयोजित करने पर केंद्र सरकार को दिए सुझाव में कहा कि ‘‘या तो टीकाकरण कीजिए या परीक्षा रद्द कीजिए।’’

दिल्ली के शिक्षा मंत्री सिसोदिया ने दसवीं कक्षा, 11वीं कक्षा और 12वीं कक्षा में अब तक के आकलन के अंकों को ध्यान में रखते हुए परिणाम तैयार करने की अनुशंसा की।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को लिखे पत्र में सिसोदिया ने कहा कि अगर विशेषज्ञ 12वीं कक्षा के छात्रों को कोविशील्ड या कोवैक्सीन का टीका लगाने के खिलाफ सुझाव दे रहे हैं तो केंद्र सरकार को फाइजर का टीका खरीदना चाहिए जिसे 12 वर्ष से ऊपर के बच्चों के लिए मंजूरी दी गई है।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम करें तो परीक्षा की प्रक्रिया में शामिल कक्षा 12 के सभी छात्रों और शिक्षकों को तीन से चार हफ्ते के अंदर टीका लगाने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर सरकार को लगता है कि वर्तमान में छात्रों को टीका लगाना उचित नहीं है तो मेरा मानना है कि परीक्षाएं रद्द की जानी चाहिए और छात्रों द्वारा दसवीं, 11वीं और 12वीं कक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर परिणाम को सारिणीबद्ध किया जाना चाहिए।’’