नयी दिल्ली, 25 मई (भाषा) केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने मंगलवार को बताया कि सरकार ने ‘एम्फोटेरिसिन बी’ की 19,420 अतिरिक्त शीशियां विभिन्न राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों तथा केन्द्रीय संस्थानों को दी है।

‘एम्फोटेरिसिन बी’ का इस्तेमाल ‘म्यूकरमाइकोसिस’ के उपचार के लिए किया जाता है। इसे ‘ब्लैक फंगस’ भी कहा जाता है। यह एक दुर्लभ गंभीर संक्रमण है, जो कोविड-19 के कई मरीजों में पाया जा रहा है। इससे नाक, आंख, साइनस और कई बार मस्तिष्क को भी नुकसान पहुंच सकता है।

केन्द्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘ ‘एम्फोटेरिसिन बी’ की 19,420 अतिरिक्त शीशियां विभिन्न राज्यों, केन्द्र शासित प्रदेशों तथा केन्द्रीय संस्थानों को दी गई हैं।’’

इन 19420 शीशियों में से गुजरात को 4,640, महाराष्ट्र को 4,060, आंध्र प्रदेश को 1,840, मध्य प्रदेश को 1,470, राजस्थान को 1,430, उत्तर प्रदेश को 1,260, कर्नाटक को 1,030 शीशियां दी गई है।

इससे पहले सरकार ने 21 मई को ‘एम्फोटेरिसिन बी’ की 23,680 शीशियां विभिन्न राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को दी थी।