नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) दिल्ली सरकार द्वारा संचालित लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में अब तक म्यूकोरमाइकोसिस या ब्लैक फंगस के 20 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। एक शीर्ष अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी।

अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार ने कहा कि 21 मामलों में से 13 मरीज कोविड-19 से पीड़ित हैं।

म्यूकोरमाइकोसिस या ब्लैक फंगस उन लोगों में ज्यादा फैल रहा है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कोविड, मधुमेह, गुर्दे की बीमारी, यकृत या हृदय रोग, उम्र संबंधी समस्याओं के कारण कम है या फिर जो आर्थराइटिस (गठिया) जैसी बीमारियों की वजह से दवाओं का सेवन करते हैं।

अगर ऐसे मरीजों को स्टेरॉयड दी जाती है तो उनकी प्रतिरोधक क्षमता और कम हो जाएगी जिससे फंगस को प्रभावी होने का मौका मिलेगा, ऐसे में चिकित्सक की उचित देखरेख में समुचित तरीके से स्टेरॉयड का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में ब्लैक फंगस के मामलों में भी तेजी देखने को मिली है।

कुमार ने कहा, “एलएनजेपी अस्पताल में फिलहाल ब्लैक फंगस के 21 मरीज हैं जिनमें से 13 कोरोना वायरस संक्रमित हैं।”

राष्ट्रीय राजधानी में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को लोगों से सतर्क रहने और खुद से दवाएं, खास तौर पर स्टेरॉयड न लेने का अनुरोध किया और कहा कि शहर में 15 अस्पताल म्यूकोरमाइकोसिस के मरीजों का उपचार कर रहे हैं।

बुधवार रात तक शहर में ब्लैक फंगस के 197 मामले सामने आए थे।

भाषा

प्रशांत माधव

माधव