उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ के थ्री टी (टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट) फॉर्मूले का असर प्रदेश में देखने को मिल रहा है. कोरोना संक्रमितों के नए केसों में भारी गिरावट आई है. प्रदेश में कोरोना के मामोलं में गिरावट आने से प्रदेश सरकार ने राहत की सांस ली है लेकिन सीएम का कहना है कि ढिलाई बरतना सही नहीं है. प्रदेश में कुल 3.30 लाख टेस्ट कराए गए इसमें से करीब 2200 पॉजिटिव केस मिले. इसके साथ ही रिकवरी रेट 96.1 प्रतिशत पहुंच गया.

यह भी पढ़ें- सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर ट्वीट कर बुरे फंसे अनुभव सिन्हा

यह भी पढ़ेंः कौन हैं सिद्धार्थ पिठानी? सुशांत सिंह राजपूत मामले में हुए हैं गिरफ्तार

यह भी पढ़ें- ड्रग्स मामल: सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी को NCB ने किया गिरफ्तार

यह भी पढ़ें- दिल्ली होगी अनलॉक, जानें सरकार की नई गाइडलाइन

यह भी पढ़ें- अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंद रहेगा जारी, जानें DGCA के नए निर्देश

बता दें, उत्तर प्रदेश में 31 मई तक आंशिक कर्फ्यू लगा है. संभावना है कि यह 1 जून से फिर बढ़ाया जाएगा. आंशिक कर्फ्यू में सुबह 7 बजे से 12 बजे तक दुकानों को खोलने की परमिशन है, साथ ही मेडिकल स्टोर्स, चिकित्सिक सुविधाएं, ग्रोसरी और ऑनलाइन चीजों के आने-जाने पर रोक नहीं है.

यह भी पढ़ें- दिल्ली होगी अनलॉक, जानें सरकार की नई गाइडलाइन

यह भी पढ़ें- अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंद रहेगा जारी, जानें DGCA के नए निर्देश

यह भी पढ़ें- IPL 2021: आईपीएल-14 का बाकी मैच अब UAE में खेला जाएगा, BCCI ने दी जानकारी