बॉलीवुड के इतिहास में बेहतरीन फिल्मों में कई नाम दर्ज हैं, उनमें से एक 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' भी है. फिल्म के लीड एक्टर्स काजोल और शाहरुख खान का मानना है कि ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ फिल्म ने उनके अपने करियर और भारतीय सिनेमा जगत पर गहरी छाप छोड़ी है. इस फिल्म को लेकर उनकी कई भावनात्मक यादें जुड़ी हैं.

इस फिल्म के नाम को लघु रूप में और प्यार से ‘डीडीएलजे’ कहा जाता है. इसका निर्देशन दिग्गज फिल्म निर्माता यश चोपड़ा के बेटे आदित्य चोपड़ा ने किया था और वह उस समय फिल्मी दुनिया में अपने करियर का आगाज कर रहे थे. इस फिल्म ने शाहरुख खान को बॉलीवुड का ‘किंग ऑफ रोमांस’ बना दिया. अभिनेता का कहना है, ‘‘ राज का किरदार मेरे अब तक के किरदारों से अलग था. इस फिल्म से पहले ‘डर’, ‘बाजीगर’ और ‘अंजाम’ जैसी फिल्मों में मैंने नकारात्मक भूमिका निभाई थी. और इसके अलावा मैंने हमेशा यह महसूस किया था कि मैं रोमांटिक किरदार निभाने के लिए नहीं बना हूं.’’

निर्माण कंपनी यशराज फिल्म्स (YRF) की ओर से साझा किए गए एक बयान में शाहरुख ने कहा है, ‘‘ इसलिए मुझे जब आदित्य चोपड़ा और यश चोपड़ा जी ने यह अवसर दिया तो मैं उनके साथ काम करने को उत्साहित तो था लेकिन यह कैसे होगा, इसका अंदाजा नहीं था और मैं इसे अच्छे से कर पाऊंगा या नहीं, इसको लेकर भी कोई अंदाजा नहीं था.’’

अभिनेता ने कहा कि दर्शक इस फिल्म में राज में शाहरुख की छवि भी देख सकते हैं, खास तौर पर मजाकिया दृश्यों में, क्योंकि इसे उन्होंने अपने जीवन से लिया था. इस फिल्म का बजट चार करोड़ रुपये था और 1995 में इसने भारत में 89 करोड़ रुपये की कमाई की और विदेशी बाजारों में 13.50 करोड़ रुपये कमा लिये थे. दुनियाभर में इस फिल्म ने कुल 102.50 करोड़ रुपये की कमाई की थी.

निर्माण कंपनी ने बताया कि अगर आज की महंगाई के हिसाब से गणना की जाए तो इस फिल्म ने भारत में 455 करोड़ रुपये और विदेश में 69 करोड़ रुपये की कमाई की है. अभिनेत्री काजोल का कहना है कि फिल्म की टीम को लगा था कि वह साथ में एक ‘कूल’ फिल्म बना रहे हैं लेकिन कभी सोचा नहीं था कि इस फिल्म का असर सिनेमा जगत पर लंबे समय तक रहने जा रहा है. उन्होंने कहा कि सिमरन और राज के बीच का रोमांस, इस फिल्म को ‘सदाबहार’ बना देता है. इस फिल्म ने मंगलवार को 25 साल पूरे कर लिये.

अभिनेत्री ने कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि ‘डीडीएलजे’ सदाबहार है क्योंकि सभी सिमरन और राज के साथ जुड़ाव महसूस करते हैं. मुझे लगता है कि वे इन किरदारों को काफी पसंद करते हैं. उन्होंने इन किरदारों को वर्षों से पसंद किया है और करते आ रहे हैं. यह कुछ ऐसा है कि आप इसे हमेशा पसंद करेंगे.’’ काजोल ने कहा कि पहले उन्हें सिमरन का किरदार ‘थोड़ा बोरिंग’ लगा था लेकिन धीरे-धीरे उन्हें यह किरदार समझ में आने लगा था. अभिनेत्री का कहना है कि आदित्य चोपड़ा ऐसे निर्देशकों में से एक हैं जो किसी कहानी के साथ ‘दृढ़ संकल्प’ के साथ आगे बढ़ते हैं.