भारत में कोरोना वायरस के 41,965 मामलों और 460 मौतों में से केरल के 30,203 मामले और 115 मौतें हैं. इस दौरान कोरोना से 33,964 मरीज रिकवर हुए हैं. भारत सरकार के आंकड़ों में कहा गया है कि कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 3,19,93,644 हो गई है, जबकि मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार को अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत के कुल कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 3,28,10,845 हो गई, जबकि सक्रिय मामले बढ़कर 3,78,181 हो गए. सुबह 8 बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, 460 और लोगों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,39,020 हो गई है.

मंत्रालय ने बताया कि सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 3,78,181 हो गई है, जोकि इसमें कुल संक्रमण का 1.15 प्रतिशत है. राष्ट्रीय COVID-19 रिकवरी दर 97.51 प्रतिशत दर्ज की गई है. इसने कहा कि 24 घंटे के भीतर सक्रिय मामलों में 7,541 की वृद्धि हुई है. 

यह भी पढ़ें: अंडे के छिलकों को फेकने से पहले जान लें ये फायदे, पहले नहीं सुना होगा

देश में मंगलवार को 16,06,785 कोविड टेस्ट किए गए, जिससे देश में कोविड का पता लगाने के लिए अब तक किए गए कुल टेस्ट 52,31,84,293 हो गए. मंत्रालय ने कहा कि दैनिक पॉजिटिविटी दर 2.61 प्रतिशत दर्ज की गई है. साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 2.58 प्रतिशत दर्ज की गई है. यह पिछले 68 दिनों से तीन प्रतिशत से नीचे है.

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस वैक्सीन की 1,33,18,718 डोज़ लगाई गई, जोकि देश में अभी तक किसी भी एक दिन लगाई गई वैक्सीन की सर्वाधिक संख्या है. इसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 65,41,13,508 हो गया है. 

यह भी पढ़ें: लेमनग्रास के फायदे सुन हैरान रह जाएंगे आप,कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाता है

भारत का COVID-19 आंकड़ा पिछले साल 7 अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गया था, 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार हो गया था. 

देश में कोविड के कुल मामलों की संख्या 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और पिछले साल 19 दिसंबर को एक करोड़ के आंकड़े को पार कर गई थी. भारत ने 4 मई को दो करोड़ मामले और 23 जून को तीन करोड़ मामलों को पार किया था.

यह भी पढ़ें: मच्छर काटने की वजह जान हैरान हो जाएंगे आप, जानें कैसे करें सही इलाज