हमें आए दिन टीवी, अखबार व सोशल मीडिया से रेप के दिल दहला देने वाले मामलों के बारे में पता चलता है. हर किसी के दिमाग में तब एक ही प्रश्न उठता है “इतने रेप क्यों होते है?”. एक तरफ जहां भारत,अमेरिका, कनाडा, स्वीडन और ब्रिटेन जैसे विकसित देशों में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं है. वही इस दुनिया में एक ऐसा भी देश है जहां बीते एक साल से कोई भी रेप का मामला सामने नहीं आया है.

यह भी पढ़ें- जानें, एक चाय वाले ने पीएम नरेंद्र मोदी को क्यों किया 100 रुपये का मनी ऑर्डर

लिस्टेंस्टीन एक ऐसा देश है जहां सुरक्षित हैं महिलाएं

द वर्ल्ड पॉपुलेशन रिव्यू ने 2020 में प्रति 100,000 नागरिकों पर बलात्कार की घटनाओं की संख्या के आधार पर देशों की एक सूची प्रकाशित की है. सूची के अनुसार, लिस्टेंस्टीन सबसे कम बलात्कार के मामलों की रिपोर्ट वाले देशों की सूची में सबसे ऊपर है. इस देश की आबादी महज 38,128 है साथ ही इस देश में 2020 से बलात्कार का कोई भी मामला सामने नहीं आया है.

यह भी पढ़ें- मनोज बाजपेयी ने यूपी पुलिस से कहा- चेल्लम सर रॉकस्टार हैं

ऐसे भी कई देश जहां रेप के मामले बेहद हैं कम

एक तरह जहां लिस्टेंस्टीन में एक साल में रेप का एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया. वहीं, द वर्ल्ड पॉपुलेशन रिव्यू ने 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ ऐसे भी देश हैं, जहां रेप के मामले काफी कम हैं. मिस्र इस सूची में दूसरे स्थान पर है, जहां प्रति 100,000 लोगों पर 0.10 बलात्कार की घटनाओं की दर दर्ज की गई है. दक्षिण-पूर्वी अफ्रीकी देश मोजाम्बिक में 2020 में अब तक 44 बलात्कार की घटनाओं के साथ तीसरे स्थान पर रहा. इस देश में बलात्कार की घटना की दर सिर्फ 0.20 है. वहीं मध्य एशियाई देश अजरबैजान, आर्मेनिया और तजाकिस्तान क्रमशः चौथे, पांचवें और छठे स्थान पर रहे.

यह भी पढ़ें- दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार को मिली अस्पताल से छुट्टी, तबीयत को लेकर डॉ ने कही ये बात

यह भी पढ़ें- HBSE 10th Result 2021: आज होगा हरियाणा बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, यहां करें चेक

रेप के मामलों में भारत के आंकड़ें क्या कहते हैं?

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCB) की एक रिपोर्ट के अनुसार “भारत में 2018 में औसतन हर रोज करीब 91 महिलाओं के साथ रेप की घटना होती है. है. आंकड़ों के अनुसार भारत महिलाओं के लिए अब भी सुरक्षित नहीं हो पाया है थॉमसन रॉयटर्स फाउंडेशन 2018 के एक सर्वे के मुताबिक दुनिया में सबसे असुरिक्षत देशों की सूची में पहले स्थान पर भारत को रखा गया है. जबकि 2011 में भारत सबसे असुरक्षित देशों की इस सूची में चौथे स्थान पर था.

यह भी पढ़ें- अभी कैसे दिख रहे हैं दिलीप कुमार? पत्नी सायरा बानो ने तस्वीर शेयर कर दिया हेल्थ अपडेट

यह भी पढ़ेंः 30 जून तक नहीं किया ये काम तो बेकार हो जाएगा आपका PAN कार्ड, लगेगा जुर्माना

यह भी पढ़ेंः भरी कोर्ट में जूही के फैन ने गाया 'घूंघट की आड़ से दिलबर का', जज की एक न सुनी