आम आदमी पार्टी (AAP) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर ‘‘बीजेपी के गुंडों ने हमला’’ किया. हालांकि दिल्ली बीजेपी ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उसने शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया था.

इससे पहले, बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल सरकार से बकाए के भुगतान की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरना दे रहे पार्टी शासित नगर निगमों के नेताओं एवं महापौरों की हत्या करने के कथित षड्यंत्र को लेकर सिसोदिया के आवास के निकट प्रदर्शन किया था.

आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि पुलिस ने ‘‘गुंडों’’ को सिसोदिया के आवास में घुसने से नहीं रोका और उन्होंने आवास के चारों ओर लगाए गए अवरोधक भी हटा दिए. उन्होंने सिसोदिया के आवास के बाहर के इलाके का कथित वीडियो भी दिखाया, जिसमें लोगों को एक समूह को आवास में जबरन घुसते देखा जा सकता है.

भारद्वाज ने कहा, ‘‘बीजेपी के गुंडों ने उपमुख्यमंत्री के आवास पर उस समय हमला किया, जब वह वहां नहीं थे. दिल्ली पुलिस ने इस काम में बीजेपी के गुंडों की मदद की.’’

दिल्ली बीजेपी उपाध्यक्ष अशोक गोयल देवराहा ने इन आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए दावा किया कि आप नेता बीजेपी के महापौरों और अन्य निगम नेताओं को मारने के ‘षड्यंत्र’ से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने यह स्पष्ट करने के लिए सिसोदिया के आवास के बाहर प्रदर्शन किया कि भाजपा कार्यकर्ता हर प्रकार की चुनौती का जवाब देने में सक्षम हैं.’’

बीजेपी की दिल्ली इकाई ने सिसोदिया और आप नेता दुर्गेश पाठक के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा कर बुधवार को आरोप लगाया कि वे बीजेपी शासित नगर निगमों के नेताओं की हत्या करवाने की ‘साजिश’ रच रहे हैं.

पाठक ने एक बयान में इन आरोपों को बकवास बताया और कहा कि बीजेपी लोगों की छवि धूमिल करने के लिए दुष्प्रचार करती रहती है.