असम के दूसरे चरण की वोटिंग के बाद बीजेपी नेता के कार में ईवीएम मशीन पाए जाने के आरोप में चुनाव आयोग ने 4 अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. इन 4 अधिकारियों में से एक पीठासीन अधिकारी भी हैं, यह कार मतदान के बाद करीमगंज जिले में बीजेपी कैंडिडेट से जुड़े शख्स के पास मिली जिससे हिंसा फैल गई. इसके बाद से विपक्ष नेताओं के एक के बाद एक बयान सामने आ रहे हैं. इसपर प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कई नेताओं ने बीजेपी पर बयान दिया. कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने भी एक बयान देकर बीजेपी पर तंज कसा है.

यह भी पढ़ें- UP Panchayat Chunav 2021: जिला पंचायत सदस्य चुनाव में उतरेंगी मिस इंडिया रनरअप दीक्षा सिंह

इस मामले पर प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए चुनाव आयोग से इस मामले पर निर्णायक कार्रवाई करने की मांग की है. राहुल गांधी ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि EC की गाड़ी खराब, भाजपा की नीयत खराब और लोकतंत्र की हालत खराब. हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी बातें सामने आई हैं कि चुनाव आयोग की कार खराब होने के चलते पोलिंग एजेंट्स ने बीजेपी नेता से लिफ्ट मांगी थी. उसी दौरान जांच हुई और वो मशीन बीजेपी नेता के पास पाई गई. 

बता दें, इस घटना पर चुनाव आयोग ने बताया कि ईवीएम पूरी तरह से सुरक्षित है, उसकी सील नहीं टूटी थी. आयोग ने बताया कि ईवीएम को स्ट्रॉन्ग रूम में सुरक्षित रख दिया गया है, हालांकि इस मामले की पूरी जांच अच्छे से की जाएगी.

यह भी पढ़ें- CBSE Board ने छात्रों को से कहा- 'सावधान हो जाएं! फर्जी सर्कुलर हो रहा वायरल'