अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड करने के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म पर बहस तेज हो गई है. शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन ने भी इसे लेकर कहा कि बॉलीवुड में सबसे बड़ी समस्या खेमेबाजी की है, जिसकी वजह से मेरी कई फिल्में ठप पड़ गईं.

बॉलीवुड बबल से इंटरव्यू में अध्ययन सुमन ने कहा कि कुछ हाथों में पावर और खेमेबाजी बॉलीवुड में कई सालों से है. मेरे साथ भी ऐसा हुआ. मेरी 14 फिल्मों को ठप कर दिया गया और कुछ के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन मीडिया के सामने गलत तरह से पेश किए गए. इससे पहले लोगों का ध्यान इन बातों की ओर नहीं गया. यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोगों को इन सब चीजों का आभास कराने के लिए सुशांत सिंह राजपूत को आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ा.

अध्ययन ने आगे बताया कि बॉलीवुड में कैम्पस बने हुए हैं. वहीं प्रतिभाशाली लोगों को आगे नहीं आने देते. लोग स्टार्स किड्स पर आरोप लगा रहे हैं, जो कि सही नहीं है. मैं भी एक स्टार किड हूं, लेकिन मैं अभी तक संघर्ष कर रहा है. मैंने अभी तक किसी बड़े बैनर की फिल्म नहीं की. लोग मुझ पर आरोप लगाते हैं कि मेरे पिताजी ने मुझे फिल्में दिलाईं. बताओ वो फिल्में कहां हैं?

बॉलीवुड बबल के मुताबिक- अध्ययन सुमन अब वेब सीरीज में अगस्त में दिखाई देंगे. इसके अलावा वह अपनी नई एलबम सफर पर भी काम कर रहे हैं.