ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैंकॉक ने बुधवार को बताया कि दक्षिण अफ्रीका में सामने आए कोविड-19 के नए स्वरूप के भी दो मामले ब्रिटेन में मिले हैं.

ब्रिटेन में कोरोना वायरस का जिस तरह नया स्वरूप मिला है, उसी तरह दक्षिण अफ्रीका में वायरस के अलग प्रकार का पता चला है. विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि वायरस के नए स्वरूप के कारण देश संक्रमण के दूसरे लहर का सामना करना पड़ रहा है.

हैंकॉक ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘नए स्वरूप के दोनों मामले में लोग पिछले कुछ हफ्तों में दक्षिण अफ्रीका से यात्रा कर लौटे व्यक्तियों के संपर्क में आए थे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वायरस के नए स्वरूप का सामने आना बहुत चिंताजनक है क्योंकि यह बहुत तेजी से संक्रमण फैलाता है और ऐसा प्रतीत होता है कि ब्रिटेन में मिले नए स्वरूप के अलावा भी वायरस में बदलाव हुआ है.’’

मंत्री ने दक्षिण अफ्रीका से यात्रा पर तुरंत प्रतिबंध लगाने की पुष्टि की और कहा कि पिछले एक पखवाड़े में दक्षिण अफ्रीका से आए लोगों या उनके संपर्क में आने वालों को तुरंत पृथक-वास में चले जाना चाहिए.

ब्रिटेन के वैज्ञानिक दक्षिण पूर्व इंर्लैंड में एक प्रयोगशाला में वायरस के नए स्वरूप की जांच जांच कर रहे हैं. कोरोना वायरस के नए स्वरूप के कारण ब्रिटेन के बड़े हिस्से को पाबंदी का सामना करना पड़ेगा. ब्रिटेन में बुधवार को संक्रमण के 36,804 मामले आए. महामारी शुरू होने के बाद से पहली बार इतने मामले आए हैं.

संक्रमण के तेजी से फैलने के कारण पूर्वी और दक्षिण-पूर्वी इंग्लैंड में क्रिसमस के बाद 26 दिसंबर से श्रेणी चार की पाबंदी लगायी जाएगी.

संक्रमण से बचाव के लिए संशोधित नियमों के तहत श्रेणी एक से तीन के तहत वाले इलाके में रहने वाले लोग क्रिसमस पर एक दूसरे से मिल-जुल सकते हैं. श्रेणी चार के इलाके में रहने वाले लोग घर के सदस्यों के साथ ही क्रिसमस मना पाएंगे.