CBSE और ICSE बोर्ड समेत कुछ स्टेट बोर्ड्स ने 12वीं की परीक्षाओं को आयोजित नहीं करने का फैसला किया है. वहीं, अब कई अन्य राज्य भी 12वीं बोर्ड की परीक्षा को रद्द करने का कदम उठा सकते हैं. वहीं, रिजल्ट कैसे घोषित किए जाएंगे इस पर अभी फैसला लिया जाना बाकी हैं. इस बीच छात्रों के मन में एक बड़ा सवाल है कि आखिर कॉलेज में एडमिशन कैसे होगा.

यह भी पढ़ेंः गुजरात 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा 1 जुलाई से, जारी हुई डेटशीट

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) का कहना है कि इस साल भी यूनिवर्सिटी में मेरिट के आधार पर ही एडमिशन किए जाएंगे. इसका मतलब ये है कि एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम नहीं लिए जा सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः  CBSE के बाद ICSE ने लिया 12वीं के बोर्ड एग्जाम पर फैसला

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक्टिंग वीसी पीसी जोशी ने बताया है कि, केंद्र सरकार ने कोरोना की वजह से जो फैसला लिया है, वह उनका समर्थन करते हैं. हमारे यहां मेरिट के आधार पर ही एडमिशन किए जाएंगे. रिजल्ट के लिए बोर्ड जो भी तय करेंगे उनका वह सम्मान करेंगे.

यह भी पढेंः क्या 1 जून से आपको ATM से पैसे निकालने के लिए देने होंगे 173 रुपये?

यूनिवर्सिटी ने कहा कि बोर्ड के रिजल्ट आने तो तय हैं. ऐसे में हम नतीजों के आधार पर ही मेरिट को तय करेंगे.

हर साल, डीयू अधिकांश पाठ्यक्रमों में कट-ऑफ के माध्यम से स्नातक प्रवेश आयोजित करता है, जिसकी गणना काफी हद तक कक्षा 12 के अंकों के आधार पर की जाती है.

यह भी पढ़ेंः Bank Holidays 2021: जून में बैंकों में रहेंगी 9 दिन छुट्टियां, देखें लिस्ट

यह भी पढ़ेंः कोरोना की दूसरी लहर में करीब 600 डॉक्टरों की मौत, दिल्ली-बिहार में सबसे अधिक