केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस नेता राहुल गांधी तीन से पांच अक्टूबर तक पंजाब और हरियाणा में ट्रैक्टर रैलियां करने जा रहे हैं. पार्टी की तरफ से जारी हुए बयान में कहा गया कि किसान विरोधी कानूनों के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री सहित कई नेता शामिल होंगे.

यह जानकारी पार्टी के सूत्रों ने दी

इसने कहा कि किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, कांग्रेस महासचिव एवं पार्टी के पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, राज्य के सभी मंत्री एवं कांग्रेस विधायक प्रदर्शनों में शामिल होंगे.

पंजाब कांग्रेस के प्रवक्ता के अनुसार ट्रैक्टर रैलियों को किसान संगठनों का समर्थन मिलने की उम्मीद है. रैलियों में तीन दिन में 50 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की जाएगी. प्रवक्ता ने कहा कि रैलियां तीनों दिन हर रोज पूर्वाह्न लगभग 11 बजे शुरू होंगी. इनका आयोजन कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया जाएगा.

तीन अक्टूबर को रैली बढ़नी कलां (निहाल सिंह वाला, मोगा) में एक जनसभा के साथ शुरू होगी और 22 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. चार अक्टूबर को राहुल गांधी एक जनसभा के लिए कार से भवानीगढ़ पहुंचेंगे. इसके बाद वह समाना, पटियाला के लिए ट्रैक्टर पर सवार होंगे. प्रवक्ता ने बताया कि पांच अक्टूबर को धुदन साधन (पटियाला) से रैली एक जनसभा के साथ शुरू होगी और पिहोवा बॉर्डर तक ट्रैक्टर से 10 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे, जहां से राहुल गांधी हरियाणा में प्रवेश करेंगे.

हरियाणा कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी पांच अक्टूबर को कैथल और कुरुक्षेत्र जिले के पीपली में रैलियों को संबोधित कर सकते हैं. इसके बाद वह दिल्ली लौट जाएंगे.