रणनीतिक विनिवेश की प्रक्रिया में चल रही सरकारी कंपनी एयर इंडिया (Air India) की पायलट यूनियनों ने अपने वेतन की कटौती में पांच प्रतिशत कम करने के प्रबंधन के निर्णय को अस्वीकार कर दिया है. यूनियनों ने धमकी दी है वेतन कटौती में अच्छी खासी कमी न की गयी तो वे हड़ताल का रास्ता पकड़ सकती हैं.

गुरुवार को एयर इंडिया के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक राजीव बंसल को लिखे एक संयुक्त पत्र में, दो युनियनों - इंडियन पायलट्स गिल्ड (आईपीजी) और इंडियन कमर्शियल पायलट एसोसिएशन (आईसीपीए) ने कहा, ‘‘मौजूदा वेतन कटौती के स्तर को पांच प्रतिशत कम करना निहायत अपमानजनक है.’’

अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन परियोजना को बड़ा झटका, TMC ने भूमि सौंपने के प्रस्ताव को किया खारिज

उन्होंने कहा कि इस कदम के बावजूद पायलटों के लिए वर्तमान सकल वेतन की कटौती मात्र तीन प्रतिशत घटी है.

पिछले महीने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को लिखे एक पत्र में, यूनियनों ने कहा था कि अन्य एयरलाइनों ने वेतन भत्तों को फिर से बहाल कर दिया है, लेकिन एयर इंडिया समूह के पायलटों को कम वेतन मिलना जारी है, जो सामान्य वेतन से 70 प्रतिशत तक कम है.

किसान आंदोलन पर बाबा रामदेव ने कहा- 'सरकार और किसान दोनों को छोड़ देनी चाहिए जिद'