अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो से जांच कराने की पार्थ पवार की हालिया मांग पर उनके दादा एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि वह इस मांग को तनिक भी महत्व नहीं देते हैं . इसके साथ ही पवार ने अपने भतीजे के बेटे के बारे में कहा कि वह अभी अपरिपक्व हैं.

शरद पवार ने कहा- मुंबई पुलिस पर भरोसा 

शरद पवार ने यह भी कहा कि मुंबई पुलिस में उनका भरोसा है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोई अब भी चाहता है कि मामले की जांच केंद्रीय एजेंसी से करायी जाये तो वह इसका विरोध नहीं करेंगे. राजपूत 14 जून को उपनगरीय इलाके बांद्रा स्थित अपने घर में फंदे से लटके मिले थे.

CBI जांच की मांग पर अपने पोते को बताया अपरिपक्व

शिवसेना सांसद संजय राउत से मुलाकात के बाद राकांपा प्रमुख ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'हमारे पोते (भतीजे के बेटे) ने जो कुछ भी कहा है हम उसे तनिक भी महत्व नहीं देते हैं. वह अभी अपरिपक्व हैं....मैंने स्पष्ट रूप से कहा है कि हमें महाराष्ट्र पुलिस पर 100 फीसदी भरोसा है . लेकिन, अगर कोई अब भी चाहता है कि मामले की जांच सीबीआई से हो तो इसका विरोध करने का कोई कारण नहीं है. ' उनसे यह पूछा गया था कि उनके पोते पार्थ पवार समेत कुछ लोग मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो से कराना चाहते हैं.

मीडिया में हो रही चर्चा से आश्चर्य 

पवार ने कहा कि इस मामले में महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ जो आरोप लगाये गये हैं उसका वह जवाब नहीं देना चाहते हैं . उन्होंने कहा, 'अगर कोई व्यक्ति आत्महत्या करता है तो हमें दुख होता है. लेकिन मुझे इस बात से आश्चर्य होता है ​जैसे (मीडिया में) इस पर चर्चा हो रही है."

राकांपा प्रमुख ने कहा कि हाल ही में वह सतारा में थे, राजपूत की मौत पर मीडिया में जिस प्रकार चर्चा हो रही है उस पर वहां के एक किसान ने आश्चर्य प्रकट किया . पवार ने कहा, 'किसान ने कहा कि उन्हें इस बात पर आश्चर्य हो होता है जिस तरह से इस (राजपूत की मौत) पर चर्चा होती है . उन्होंने (किसान) कहा कि सतारा में 20 किसानों ने आत्महत्या कर लिया जिसका मीडिया ने संज्ञान तक नहीं लिया . इसलिये हमें पता है कि आम लोगों की भावनायें क्या है . '

महाराष्ट्र की मावल सीट से लोकसभा चुनाव हार जाने वाले पार्थ पवार प्रदेश के उप मुख्यमंत्री एवं पवार के भतीजे अजित पवार के बेटे हैं. पार्थ पवार ने 27 जुलाई को प्रदेश के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात कर राजपूत की मौत के मामले की जांच सीबीआई से अथवा एक विशेष जांच दल से कराने की मांग की थी.

शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि राजपूत की मौत के मामले में दबाव का खेल खेला जा रहा है और महाराष्ट्र के खिलाफ साजिश के तहत इस मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है .