समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को उन्नाव में ऐलान किया है कि उनकी पार्टी और गठबंधन मिलकर उत्तर प्रदेश के 2022 विधानसभा चुनाव में 350 सीटें जीतकर सरकार बनाएगी. बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में 403 सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 202 सीटों का आंकड़ा जरूरी है. 

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्नाव में कहा, "आगामी चुनाव में समाजवादी पार्टी अपने गठबंधनों के साथ 350 सीटें जीतने जा रही है." बता दें कि समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी (AAP) के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही है.

ये भी पढ़ें: मॉनसून सेशन के बीच जंतर-मंतर पर आज से लगेगी 'किसान संसद', मिली परमिशन

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने किसी बड़ी पार्टी के साथ गठबंधन करने के इरादे से इनकार किया है. उनका कहना है पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन कर सत्ता की कुर्सी पर काबिज होगी.  

अखिलेश यादव ने कहा, "समाजवादी पार्टी ने फैसला किया है कि बड़े दलों से गठबंधन नहीं होगा. पार्टी छोटे दलों को साथ लेकर चलने का काम करेगी और जिसको भी बीजेपी को हराना है उसके लिए समाजवादी पार्टी के दरवाज़े खुले हैं."

ये भी पढ़ेंः ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों के दर्जनों किस्से, लेकिन सरकार की रिपोर्ट में नहीं

अखिलेश ने बीजेपी सरकार पर पेगासस स्पाइवेयर के जरिए राजनीतिक नेताओं, पत्रकारों और अन्य लोगों की जासूसी करने का भी आरोप लगाया.

उन्नाव में जनसभा को सम्बोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, "बीजेपी एक झूठी पार्टी है और इसे सत्ता से हटाया जाना चाहिए. बीजेपी के लोगों ने झगड़े शुरू कर दिए और हाल ही में हुए पंचायत चुनावों में पार्टी ने धन बल का प्रयोग किया. अपने साढ़े चार साल के शासन में बीजेपी ने राज्य में एक भी कारखाना नहीं बनाया है. इसने लोगों को भुखमरी के कगार पर पहुंचा दिया है."

ये भी पढ़ेंः ममता बनर्जी ने कहा- जब तक बीजेपी को देश से खदेड़ नहीं देते तब तक 'खेला होबे'

बता दें कि 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने अकेले 302 सीटें जीती थीं, जबकि समाजवादी पार्टी ने 47 सीटों पर कब्ज़ा जमाया था. वहीं सपा की गठबंधन कांग्रेस ने 7 सीटें जीती थीं. 

ये भी पढ़ेंः मोहन भागवत बोले- 1930 से प्लानिंग के तहत मुस्लमानों की संख्या बढ़ाने के प्रयास हुए