विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद अब वह एनकाउंटर में मारा जा चुका है. यूपी पुलिस जिसे एक हफ्ते से तलाश रही थी वह पुलिस की गिरफ्त में आया. लेकिन 24 घंटे के अंदर ही उसका एनकाउंटर हो गया. हालांकि, पुलिस इसे एक दुर्घटना बता रही है और कह रही है कि गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे भागने की कोशिश की, इस दौरान उसने पुलिस के हथियार से फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में विकास मारा गया.

वहीं, इस घटना के बाद समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज़ खुलने से सरकार पलटने से बचाई गयी है.'

विकास दुबे के गिरफ्तारी के बाद ये माना जा रहा था कि उससे जब पूछताछ होगी तो इससे कई राज खुलेंगे. लेकिन अब विकास दुबे की मौत के साथ ही वह सारे राज अब दफ्न हो गए हैं.

बता दें कि विकास दुबे को गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन से हिरासत में लिया गया था. वह उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर पहुंचा था, वहीं से पलिस ने उसे अपने कब्जे में लिया. वहीं, उज्जैन से सीधे उसे कानपुर भेजा गया था. एसटीएफ की टीम उसे गुरुवार रात को ही कानपुर के लिए रवाना हुई थी.

गौरतलब है कि विकास दुबे ने कानपुर एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी और वह वहां से फरार हो गया था. विकास दुबे पर पहले से भी हत्या, अपहरण और लूट जैसे 60 से अधिक मामले दर्ज हैं.