देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका बरकरार है. हालांकि, कई दिनों से लगातार देश में 40 हजार कोरोना के मामले दर्ज होने के बाद ये फिर 30 हजार तक पहुंच गया है. वहीं, केरल में कोरोना के मामलों से ज्यादा राहत नहीं मिली है. जबकि महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ता दिख रहा है. इस वजह से गोवा सरकार ने चिंता जताई है और प्रदेश में अलर्ट जारी किया है.

गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने कहा है कि, महाराष्ट्र और केरल में बढ़ते मामलों के मद्देनज़र हमने गोवा में लोगों को अलर्ट किया है. हमने सख़्त SOP नहीं लगाए हैं लेकिन फिर भी लोगों को एहतियात बरतना ज़रूरी है. लोगों का सहयोग मिला तो हम 31 अक्टूबर तक वैक्सीन की दूसरी डोज़ लगाने का काम पूरा कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः खरीदें 800 रुपये किलो वाली लाल भिंडी, फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, केरल में बुधवार को 25,772 मामले सामने आए हैं. जबकि 189 लोगों की मौत हुई है. यहां अब तक कुल 21,820 लोगों की मौत हो चुकी है. केरल में अभी 2,37,045 कोरोना के सक्रिय मामले हैं.

वहीं, महाराष्ट्र में 3,898 कोरोना संक्रमण के नए मामले बुधवार को दर्ज किए गए हैं. जबकि 86 लोगों की मौत हुई है. यहां अब तक 1,37,897 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. यहां अब तक कोरोना के कुल मामले 64,93,698 पहुंच गए हैं.

यह भी पढ़ेंः कोरोना का एक और खतरनाक वैरिएंट C.1.2 आया सामने, जाने इसके बारे में सब कुछ

वहीं, केरल में बढ़ते मामलों को लेकर कर्नाटक भी सतर्क दिख रहा है. इस मामले में कर्नाटक के मंत्री के सुधाकर ने ट्वीट किया, ‘पड़ोसी राज्य केरल में कोरोना की मौजूदा स्थिति को देखते हुए राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थानों, अस्पतालों, नर्सिंग होम, उद्योगों, होटलों और अन्य प्रतिष्ठानों को सलाह दी गई है कि वे अपने कर्मियों को केरल की यात्रा को अक्टूबर 2021 के अंत तक टालने का निर्देश दें. इसके साथ-साथ स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि जो लोग अब तक कर्नाटक नहीं लौटे हैं वह अपनी यात्रा को अक्टूबर के अंत तक स्थगित कर दें.

यह भी पढ़ेंः कोरोना के साथ केरल में निपाह वायरस का खतरा, 12 साल के बच्चे की हुई मौत