कोलकाता, 22 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल सरकार ने चक्रवात ‘यास’ के मद्देनजर सभी एहतियाती कदम उठाए हैं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हालात का जायजा लेने के लिए खुद नियंत्रण कक्ष में मौजूद रहेंगी। अधिकारियों ने शनिवार को इस आशय की जानकारी दी।

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के चक्रवातीय तूफान ‘यास’ में बदलने की संभावना है और उसके 26 मई को पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा तट तक पहुंचने का अनुमान है।

आज दिन में राज्य सचिवालय में अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक करने वाली मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि संवेदनशील क्षेत्रों के लिए राहत सामग्री रवाना कर दी गयी है और अघिकारियों को तटवर्ती तथा नदी क्षेत्रों के आसपास के लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाने को कहा गया है।

बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘आज दोपहर में मैंने संबंधित केन्द्रीय और राज्य एजेंसियों, जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक में संभावित चक्रवात ‘यास’ के मद्देनजर आपदा प्रबंधन की तैयारियों का जायजा लिया।’’

भाषा अर्पणा प्रशांत

प्रशांत