( फाकिर हसन )

जोहानिसबर्ग, 28 अप्रैल (भाषा) दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 पर मंत्री सलाहकार समिति के पूर्व प्रमुख, भारतीय मूल के प्रोफेसर सलीम अब्दुल करीम की नियुक्ति विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) विज्ञान परिषद में हुई है।

विज्ञान परिषद में दुनिया के जाने माने नौ वैज्ञानिक शामिल हैं। नोबेल पुरस्कार से सम्मानित डॉ. हैरोल्ड वार्मस इसके अध्यक्ष हैं।

यह परिषद स्वास्थ्य की समस्याओं जैसे कि वैश्विक स्वास्थ्य खतरों से निपटने पर सलाह देती है, साथ ही नवीनतम वैज्ञानिक एवं चिकित्सा ज्ञान देती है और वैश्विक स्वास्थ्य में सुधार के लिए नयी आधुनिक तकनीक की पहचान करती है।

परिषद की शुरुआत मंगलवार को डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डॉ. ट्रेडोस अधनोम घेब्रेयेसस ने की।

परिषद की शुरुआत पर डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने अपने संबोधन में स्वास्थ्य मुद्दों की योजनाओं की तैयारी और इसकी तैयारी में विज्ञान के महत्व को दोहराया।

उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी ने हमें सिखाया है कि विज्ञान कोई अमूर्त बौद्धिक खोज नहीं है बल्कि यह जीवन और मृत्यु के बीच का अंतर है।’’

डब्ल्यूएचओ में मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा, ‘‘आप सभी व्यक्तिगत रूप से अपने-अपने क्षेत्र में वैज्ञानिक उत्कृष्टता का प्रतिनिधित्व करते हैं। आप सभी एक शानदार समूह और वैज्ञानिक हैं।’’

अब्दुल करीम दक्षिण अफ्रीका में एड्स अनुसंधान कार्यक्रम केंद्र (सीएपीआरआईएसए) के निदेशक हैं। सीएपीआरआईएसए ने सोमवार को उनकी नियुक्ति की पुष्टि की।