एक दौर था जब खाने-पीने की चीजें शुद्ध मिलती थीं और लोगों का स्वास्थ्य ठीक रहता था. इस तरह लोग लंबा जीवन भी जीते थे लेकिन आज के दौर में घी, दूध, फल और सब्जियां सभी लगभग मिलावट करके ही बाजार में बेचा जाता है. ज्यादाा मुनाफा पाने के लिए लोग मिलावट करके चीजों को बेचते हैं. इनमें आपकी रसोई के मसाले भी पीछे नहीं है, खासकर सब्जी में डाली जाने वाली लाल मिर्च, इसमें तो बुरी तरह मिलावट होने लगी है. इससे इसकी क्वालिटी भी खराब होती है और आपकी सेहत पर भी असर पड़ता है.

यह भी पढ़ें: कच्चे केले का इस्तेमाल केवल सब्जी बनाने में नहीं होता, हैरान कर देंगे इसके 8 अद्भूत फायदे

फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने हाल ही में एक ट्वीट किया है जिसमें उपभोक्ताओं को जागरुक करने के लिए मिर्च या किसी मसाले में क्वालिटी चेक कैसे करते हैं इसका तरीका बताया है. इस तरह से मिलने वाली पिसी हुई लाल मिर्च में ईंट का चूर्णं, टाक पाउडर, साबुन या फिर रेत को डालकर उसकी क्वालिटी खराब कर दी जाती है. एफएसएसएआई ने इस जालसाज को खत्म करने के लिए वीडियो के माध्यम से जानकारी दी है.

क्या है लाल मिर्च को असली या नकली को पहचाने का तरीका?

मिलावट करने वाले लाल मिर्च में ईंट का चूर्ण या फिर रेत जैसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं. इससे पहचानने के लिए एक गिलास पानी में आधा चम्मच लाल मिर्च पाउडर मिलाइए. इसके बाद भीगे हुए मिर्च पाउडर को हथेली पर हल्का हल्का रगड़ें. इसे रगड़ते समय अगर आप किरकिरापन महसूस करते हैं तो समझ जाइए कि ये मिलावटी है. अगर आपको चिकनापन महसूस होता है तो समझ जाइए कि इसमें साबुन के पाउडर मिला है. लेकिन वो अगर पानी में घुल जाता है तो ये लाल मिर्च पाउडर असली है.

यह भी पढ़ेंः अमरूद के पत्ते के इतने फायदे शायद ही जानते होंगे आप, इन 6 बीमारियों का कर सकते हैं इलाज