बलिया (उप्र), 23 मई (भाषा) प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने रविवार को कहा कि सेना कोविड-19 से निपटने में देशवासियों की मदद के लिए तत्पर है।

उन्होंने वैश्विक महामारी को परास्त करने के लिए ग्रामीण भारत को एकजुट करने पर विशेष रूप से जोर दिया।

जनरल रावत ने सामाजिक संस्था युवा चेतना द्वारा ''कोरोना महामारी : सेवा और सहयोग'' विषय पर आयोजित संगोष्ठी को वर्चुअल माध्‍यम से संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण इलाकों में कोविड का प्रसार रोकने के लिए लोगों को स्वयं तैयार होना होगा।

उन्होंने कहा कि सेना इस महामारी से निपटने में देशवासियों की मदद के लिए तत्पर है।

जनरल रावत ने कहा कि चिकित्सकों और अस्पतालों के अभाव वाले सुदूर देहात में कोरोना को परास्त करने के लिए लोगों को परामर्श के सहारे लड़ना होगा और ग्रामीण भारत को एकजुट होकर कोविड को शिकस्त देनी होगी।

इस दौरान, लखनऊ के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के श्वसन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने कोविड के विविध पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विदेश की सलाह को भारत के परिप्रेक्ष्य में संशोधित कर ग्रामीण इलाकों में काम करने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा, ‘‘कोविड से निपटने के लिए सरकार को हम लगातार परामर्श दे रहे हैं, ताकि ग्रामीण इलाकों में कोविड का प्रसार रोका जा सके।’’

सूर्यकांत ने कहा कि यह संकट का समय है तथा संकट के समय सबको एक होना होगा।

इस दौरान स्वामी करपात्री आश्रम से जुड़े प्रमुख संत स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि देश में महामारी से उत्पन्न संकट काल में समाज के प्रबुद्ध वर्ग को आगे आकर वंचित वर्ग का सहयोग करना चाहिए।