ऑस्ट्रेलिया के सीमित ओवर टीम के कप्तान ऐरॉन फिंच का कहना है कि पहले टेस्ट में विराट कोहली का सामना करते हुए मेजबान खिलाड़ियों को ‘सही संतुलन’ बनाना होगा क्योंकि ज्यादा उकसाने पर भारतीय कप्तान विरोधी टीम के लिए ‘बेरहम’ साबित हो सकते हैं.

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट के मैदान पर प्रतिद्वंद्विता जगजाहिर है. दोनों टीमों के बीच वाकयुद्ध, छींटाकशी और विवाद चलते रहते हैं. पिछली बार 2018-19 में खेली गई श्रृंखला में कोहली और टिम पेन के बीच तीखी बहस देखी गई थी.

फिंच ने ‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ से कहा ,‘‘ कई बार मौके आयेंगे जब तनाव पैदा होगा. इसमें संतुलन बनाने की जरूरत है. कोहली को उकसाने की जरूरत नहीं है क्योंकि ऐसा करने पर वह विरोधी टीमों के लिये बेरहम साबित हो सकता है.’’

पहला टेस्ट 17 दिसंबर को एडीलेड में शुरू होगा. इसके बाद कोहली अपने बच्चे के जन्म के कारण स्वदेश लौट आयेंगे.

फिंच ने कहा कि भारतीय कप्तान अब पहले से काफी शांतचित्त हो गए हैं. उन्होंने कहा ,‘‘ अब वह काफी बदल गया है. मैदान पर काफी शांत रहता है और खेल के प्रवाह को समझता है.’’

इंडियन प्रीमियर लीग में कोहली की कप्तानी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के लिये खेल चुके फिंच ने कहा ,‘‘ मैं सबसे ज्यादा हैरान इस बात से था कि वह खुद कितनी तैयारी करता है. लेकिन वह अपनी टीम से ज्यादा विरोधी पर फोकस कभी नहीं करता. आईपीएल में भी वह अंतिम एकादश पर पूरा भरोसा रखता था.’’

मैदान पर कई बार कोहली से भिड़ चुके फिंच ने कहा कि उनका यह रूप देखना अच्छा लगा.

उन्होंने कहा ,‘‘ हमने कई बेहतरीन श्रृंखलायें खेली जिसमें एक खिलाड़ी के तौर पर वह अलग ही स्तर पर था और काफी आक्रामक भी. इस तरह उसे शांतचित्त देखकर बहुत अच्छा लगा.’’