उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले जितिन प्रसाद ने बीजेपी का दामन थाम कर कांग्रेस को बड़ा झटका दे दिया है. उनका एकाएक बीजेपी में शामिल होना कांग्रेस के लिए यूपी चुनाव में बड़ा नुकसान साबित हो सकता है. क्योंकि जितिन प्रसाद ब्राह्मण राजनीति पर केंद्रित नेता थे और अब इससे बीजेपी को बड़ा फायदा हो सकता हैं. हालांकि, वह पहले ब्राह्मणों के साथ होने वाले अन्याय का आरोप बीजेपी पर लगाते आए हैं. लेकिन अब बीजेपी उनके द्वारा ब्राह्मणों की नाराजगी दूर करने की कोशिश करेंगे.

वहीं, बीजेपी में शामिल होने के बाद जितिन प्रसाद ने अपना सूर बदल लिया है और अब बीजेपी की तारीफ के पुल बांध रहे हैं. उन्होंने बीजेपी की तारीफ करते हुए कहा है कि देश में अगर कोई राष्ट्रीय दल है तो केवल बीजेपी ही है.

यह भी पढ़ेंः कौन है जितिन प्रसाद? यूपी चुनाव से पहले छोड़ दिया कांग्रेस का हाथ

यह भी पढ़ेंः अगर महारानी एलिज़ाबेथ, ट्रंप, ओबामा, बिल गेट्स राजस्थानी होते!

बीजेपी में शामिल होने के बाद जितिन ने संवाददाताओं से कहा, मेरा कांग्रेस पार्टी से 3 पीढ़ियों का साथ रहा है. मैंने ये महत्वपूर्ण निर्णय बहुत सोच, विचार और मंथन के बाद लिया है. आज सवाल ये नहीं है कि मैं किस पार्टी को छोड़कर आ रहा हूं बल्कि सवाल ये है कि मैं किस पार्टी में जा रहा हूं और क्यों जा रहा हूं.

उन्होंने आगे कहा, मैंने पिछले 8-10 सालों में ये महसूस किया है कि आज देश में अगर कोई असली मायने में संस्थागत राजनीतिक दल है तो बीजेपी है. बाकी दल तो व्यक्ति विशेष और क्षेत्र के हो गए लेकिन राष्ट्रीय दल के नाम पर भारत में कोई दल है तो बीजेपी है.

हमारा देश जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है उसके लिए आज देशहित में कोई दल और कोई नेता सबसे उपयुक्त और मजबूती से खड़ा है तो वो बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं.

जितिन प्रसाद ने कहा, मैंने महसूस किया कि अगर आप अपने लोगों के हितों की रक्षा नहीं कर सकते या उनके लिए काम नहीं कर सकते तो पार्टी में रहने की क्या प्रासंगिकता है. मुझे लगा कि मैं कांग्रेस में ऐसा करने में असमर्थ हूं. मैं कांग्रेस के उन लोगों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने मुझे इतने सालों तक आशीर्वाद दिया लेकिन अब मैं एक समर्पित बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में काम करूंगा.

यह भी पढ़ेंः कौन हैं चेल्लम सर? सोशल मीडिया पर हो रही है चर्चा

यह  भी पढ़ेंः जानें, कब और कितने बजे लगने वाला है साल का पहला सूर्य ग्रहण

यह भी पढ़ेंः जानें, किसने कटरीना और विक्की के रिश्ते को कर दिया कंफर्म?