एडीलेड की हार के बाद भारत का सूपड़ा साफ होने का कयास लगाने वाले पूर्व क्रिकेटरों को अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद सोशल मीडिया पर शानदार जवाब दिया.

ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से शिकस्त देने के बाद भारतीय खिलाड़ियों ने सोशल मीडिया पर अपनी भावनाओं को व्यक्त किया.

अश्विन ने एक अखबार की कतरन (कटिंग) को साझा किया जिसमें ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तानों रिकी पोंटिंग और माइकल क्लार्क के साथ पूर्व दिग्गज मार्क वॉ, ब्रैड हैडिन और इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन का बयान था. इन सभी पूर्व दिग्गजों ने विराट कोहली की गैरमौजूदगी में सीरीज में भारत की करारी हारी की भविष्यवाणी की थी. वॉन ने तो कहा था कि भारतीय टीम 0-4 से श्रृंखला हारेगी.

उनके ट्वीट में बायीं तरफ इन बयानों वाली अखबार की कटिंग जबकि दायीं तरफ चैम्पियन टीम की तस्वीर थी. उन्होंने इसके साथ लिखा, ‘‘आपकी खुशी, भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा. पिछले 4 हफ्तों में मिले सभी प्यार और समर्थन का शुक्रगुजार हूं.’’

नियमित कप्तान विराट कोहली के पितृत्व अवकाश पर लौटने के बाद टीम की अगुवाई करने वाले अजिंक्य रहाणे ने पूरे दल और ट्रॉफी के साथ फोटो साझा करते हुए कहा, ‘‘इस टीम का हिस्सा होना गर्व की बात है.’’

उपकप्तान रोहित शर्मा ने लिखा, ‘‘ जज्बे से भरी टीम के लिए भावनाओं को व्यक्त करना मुश्किल हो रहा है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि हमारे रास्ते में कितनी मुश्किलें आईं. सभी ने निडर होकर खेला और यह देखना शानदार था. यह हमेशा याद रहेगा.’’

ब्रिसबेन टेस्ट की दूसरी पारी में मंगलवार को 91 रन की पारी खेल कर जीत की नींव रखने वाले युवा बल्लेबाज शुभमन गिल ने कुछ तस्वीरों के साथ लिखा, ‘‘टीम को खुश रखने का एकमात्र तरीका है, जीतते रहिये.’’

मैच में 89 रन नाबाद पारी खेल कर भारत को मैच और श्रृंखला जीतने में अहम भूमिका निभाने वाले ऋषभ पंत ने ट्वीट किया, ‘‘जब आपका मनोबल गिरा हो. आप अतिरिक्त प्रयास करते है. ऐसी श्रृंखला जिसे हम कभी नहीं भूल सकते. मुश्किल समय में हमने खुद पर भरोसा किया और इस श्रृंखला में जीत से यह साबित होता है कि आप कुछ भी हासिल कर सकते है.’’

पूरे टूर्नामेंट में पहाड़ की तरह क्रीज पर डटने वाले चेतेश्वर पुजारा ने लिखा, ‘‘भावनाओं और गर्व से भरा हुआ हूं. पूरी टीम ने जो जज्बा और कौशल दिखाया वह शानदार था. इस तरह के पल अनगिनत घंटों के अभ्यास और मेहनत को सार्थक करते है.’’ विकेटकीपर रिधिमान साहा ने लिखा, ‘आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती...कोशिश करने वालों की हार नहीं होती. हां, हम ने कर दिखाया.’’