उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के एक गांव में 19 वर्षीय युवती के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार हुआ. फिर युवती की की मौत हो गई, इसके बाद पूरा देश गुस्से में है. पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए कई राजनीति पार्टी के बड़े नेता सामने आए. इनमें बहुत समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती भी शामिल हैं और उन्होंने योगी सरकार से हाथरस के DM को हटाने की मांग की है.

मायावती ने हाथरस मामले में पीड़ित परिवार के गंभीर आरोपों का सामना कर रहे जिलाधिकारी को हटाने की मांग करते हुए ट्वीट किया, 'हाथरस गैंगरेप कांड के पीड़ित परिवार ने जिले के डीएम पर धमकाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए हैं, फिर भी उप्र सरकार की रहस्यमय चुप्पी दुःखद व अति-चिन्ताजनक है.'

उन्होंने इसी ट्वीट में आगे कहा, 'हालांकि सरकार सीबीआई जांच के लिए राजी हुई है मगर आरोपों से घिरे जिलाधिकारी के वहां रहते इस मामले की निष्पक्ष जांच कैसे हो सकती है? लोग आशंकित.'

गौरतलब है कि हाथरस में पिछले दिनों एक दलित युवती से कथित रूप से सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी मौत के मामले में राज्य सरकार ने शुक्रवार को वहां के पुलिस अधीक्षक, पुलिस क्षेत्राधिकारी और इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था.

इसी बीच, जिलाधिकारी प्रवीण लक्षकार का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह परिवार को कथित रूप से धमकाते हुए नजर आ रहे हैं. लिहाजा उन्हें भी हटाने की मांग जोर पकड़ रही है.