ग्वाटेमाला सिटी, 19 अप्रैल (भाषा) कोविड-19 महामारी के कारण लंबे समय तक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता से दूर रहने के बाद भारतीय तीरंदाज मंगलवार से यहां शुरू हो रहे विश्व कप चरण एक में चुनौती पेश करेंगे जहां सब की नजरें अतनु दास और दीपिका कुमारी की नवविवाहित जोड़ी पर होंगी।

कोविड-19 महामारी के कारण 2020 में अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर के रद्द होने के बाद विश्व कप चरण एक पहली वैश्विक प्रतियोगिता है।

भारतीय खिलाड़ियों के लिये यह इंतजार और भी लंबा रहा क्योंकि उन्होंने बर्लिन में जुलाई 2019 में विश्व कप चरण चार सर्किट में आखिरी बार वैश्विक प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। भारतीय खिलाड़ी लय वापस पाना चाहेंगे।

कोरिया, चीन, चीनी ताइपे और तुर्की जैसे एशिया की मजबूत टीमों की गैरमौजूदगी अतनु और दीपिका के नेतृत्व में भारतीय तीरंदाज तोक्यो ओलंपिक से पहले अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।

कोरिया ने पहले ही कहा है कि कोविड-19 महामारी के कारण लागू यात्रा प्रतिबंधों की वजह से वह ओलंपिक खेलों से पहले 2021 विश्व कप तीसरे चरण तक किसी भी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेगा।

एशिया की बड़ी टीमों की गैरमौजूदगी में यहां अमेरिकी और यूरोपीय देशों के बीच वर्चस्व की लड़ाई होगी। भारतीय तीरंदाज भी विशेषकर मिश्रित और टीम स्पर्धाओं में बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।

पहले ही ओलंपिक कोटा हासिल चुके अतनु, प्रवीण जाधव और अनुभवी तरुणदीप राय की तिकड़ी के लिए यह पहला वास्तविक परीक्षण होगा।

महिला वर्ग में, भारत को दुनिया की पूर्व नंबर एक दीपिका के जरिये एक व्यक्तिगत ओलंपिक कोटा मिला है, जो अंकिता भकत और कोमलिका बारी के साथ पेरिस में अंतिम क्वालीफिकेशन प्रतियोगिता से पहले लय हासिल करना चाहेगी।

अंडर-18 वर्ग की विश्व चैंपियन मौजूदा चैम्पियन कोमलिका ने हाल के दिनों में हाल दिनों में अच्छा प्रदर्शन किया है और वह लंबे समय के बाद देश की शीर्ष तीरंदाज दीपिका की छाया से बाहर निकलना चाहेंगी।

कंपाउंड तीरंदाजों की गैरमौजूदगी में भारत को महिलाओं की टीम और मिश्रित जोड़ी टीम से पदक जीतने की उम्मीद है। कंपाउंड तीरंदाजों को दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों में टूर्नामेंट से नाम वापस लेना पड़ा।

कोच गौरव शर्मा के कोविड-19 जांच में पॉजिटिव आने के बाद राष्ट्रीय महासंघ ने एशियाई चैम्पियन अभिषेक वर्मा और ज्योति सुरेखा की जोड़ी को टूर्नामेंट से हटाने का फैसला किया।

कोच को हालांकि अगले दिन जांच में नेगेटिव पाया गया लेकिन तब तक महासंघ ने रिकर्व तीरंदाजों की सुरक्षा के लिए कंपाउंड टीम को हटाने का फैसला कर लिया था।

इस प्रतियोगिता में दुनिया भर के 150 से ज्यादा तीरंदाज भाग ले रहे हैं।

भाषा आनन्द नमिता

नमिता