नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) एक्सिस बैंक ने शनिवार को कहा कि उसके तीन प्रवर्तकों - यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी, नेशनल इंश्योरेंस कंपनी और न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी को जरूरी नियामकीय मंजूरी के बाद सार्वजनिक शेयरधारकों के तौर पर दोबारा वर्गीकृत किया जाएगा।

बैंक ने एक नियामकीय सूचना में कहा कि उसने स्पेसीफाइड अंडरटेकिंग ऑफ दि यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया (एसयूयीटीआई) के प्रशासक, भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी), जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन, न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी, नेशनल एश्योरेंस कंपनी, यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी और ओरियेंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को प्रवर्तकों के रूप में चिह्नित किया है।

एक्सिस बैंक ने बताया कि तीन प्रवर्तक इकाइयों - यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी, नेशनल इंश्योरेंस कंपनी और न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी ने उनका दोबारा वर्गीकरण कर उन्हें 'प्रवर्तकों' की जगह 'सार्वजनिक शेयरधारक' के रूप में वर्गीकृत करने का अनुरोध किया है।

बैंक के अनुसार तीनों कंपनियों की एक्सिस बैंक में क्रमश: 0.03, 0.02 और 0.69 प्रतिशत हिस्सेदारी है।