'बाजरे दा सिट्टा' फेम सिंगर रश्मीत कौर का जाह्नवी कपूर अभिनीत गाना 'नदियों पार' रीमिक्स खूब पसंद किया गया था. सिंगर रश्मीत कौर अब गुरबक्स (Gurbax) के साथ अपना नया सिंगल 'ओशिना' (Oceana) लेकर आई हैं, जिसे 5 मिलियन से अधिक बार देखा जा चुका है. 

रश्मीत ने Opoyi को बताया, 'मैं इस सफलता का श्रेय अपनी टीम को देना चाहती हूं. इस गाने के लिए गुरबक्स मेरे साथ थे और इसे आप सभी तक पहुंचाने में एक साल से अधिक समय लगा है. इसलिए हम खुश हैं कि आखिरकार यह रिलीज हो गया है और अब तक 5 मिलियन व्यूज को पार कर चुका है."

ये गाना कठिन और टॉक्सिक रिलेशनशिप को लेकर है. 

उन्होंने बताया, "हम सभी अपने जीवन में दिल टूटने से गुजरते हैं इसलिए हर कोई इस गाने से आसानी से जुड़ सकता है. इस वीडियो का संदेश सभी को प्रेरित करना है कि आपके जीवन के सभी दर्द और बुरे दौर के बावजूद, आप अभी भी इससे बाहर आ सकते हैं और आप अभी भी मजबूत हो सकते हैं क्योंकि आपके पास आप खुद हैं." 

लेकिन एक सेलिब्रिटी होने के नाते, क्या आपके लिए जीवन के बुरे दौर के बारे में बात करना मुश्किल था?

रश्मीत कौर ने कहा, "मुझे लगता है कि मुझे मेरे दोस्तों और फैंस के साथ रियल और ईमानदार रहना चाहिए. साथ ही, एक म्यूजिशियन होने के नाते, यह मेरा काम है कि मैं जो कुछ भी रिलीज कर रही हूं उसका मतलब होना चाहिए. क्योंकि पहले से ही बहुत बिन मतलब की चीजें हो रही हैं. मुझे लगता है कि फैंस से जुड़ने का एकमात्र तरीका आपकी ईमानदारी है."

यह भी पढ़ें: Koi Mil Gaya फेम रजत बेदी की कार ने रोड पर जा रहे शख्स को मारी टक्कर, हालत गंभीर

'बजरे दा सिट्टा' के बारे में बात करते हुए, रश्मीत ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि गाना इतना हिट होगा जितना अब है.

रश्मीत ने कहा, "हमने इसकी कभी उम्मीद नहीं की थी और अगर आप ध्यान दें, तो इस गाने को अभी भी कई अन्य गानों की तुलना में कम देखा गया है. हालांकि ये जितना भी देखा गया ये बिलकुल आर्गेनिक है. आज, कोई भी गाना YouTube पर हिट हो सकता है, यह बहुत आसान है लेकिन अपने फैंस तक इस आर्गेनिक तरीके से पहुंचना मुश्किल है. यह गाना पहले कनाडा में हिट हुआ फिर अमेरिका में चला और लास्ट में भारत आया. उसके बाद, मशहूर हस्तियों ने इस पर रील बनाना शुरू कर दिया और यह वायरल हो गया."

रश्मीत ने ये भी कहा कि कोई यह उम्मीद नहीं कर सकता कि कौन सा गाना पॉपुलर होने में कितना समय लेगा. 

सिंगर ने कहा, "उदाहरण के लिए, ऑरोरा (Aurora) गाना रिलीज़ होने के 6 साल बाद लोकप्रिय हुआ और ऐसा ही ब्रूनो मार्स 'टॉकिंग टू द मून' भी है. आज के समय में आप भविष्यवाणी नहीं कर सकते हैं, बल्कि आप केवल इतना कर सकते हैं कि कड़ी मेहनत करते रहें, संगीत जारी रखें और मजबूत कनेक्शन बना कर रखें." 

रश्मीत के मुताबिक, लॉकडाउन ने उन गायकों को मौका दिया है जो ब्रेक की तलाश में थे.

यह भी पढ़ें: Koi Mil Gaya फेम रजत बेदी की कार ने रोड पर जा रहे शख्स को मारी टक्कर, हालत गंभीर

रश्मीत ने कहा, "आज लोगों के पास नए गाने सुनने का समय है. आकर्षक टिकटॉक किस्म के संगीत ने दर्शकों को प्रभावित करना बंद कर दिया है. अब वे नए गायक, नए गाने सुनना चाहते हैं. उदाहरण के लिए, जब 'बजरे दा सिट्टा' हिट हुआ, तो लोगों ने मेरे चैनल को खोजा और दो साल पहले रिलीज़ हुए मेरे पिछले गीतों को सुनना शुरू कर दिया. इसलिए मुझे लगता है कि यह वह जगह है जहां आपको फायदा मिलता है."

सिंगर ने कहा, "मैं वहां लंबे समय से थी लेकिन जिसका टाइम जब आना होता है तभी आता है. मुझे अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है क्योंकि यह अभी शुरुआत है."

मुश्किलों के बारे में बात करते हुए वह कहती हैं कि उन्हें मुंबई में 6 साल हो गए हैं.

रश्मीत ने बताया, "मैंने अपनी मां को यह कहकर घर छोड़ा था कि मैं जा रही हूं, उन्होंने पुछा किसने पास और मैं निकल गई. कहीं पहुंचने के लिए आपको इन सबका सामना करना पड़ता है. लॉकडाउन ने मेरे जीवन में बहुत बड़ी भूमिका निभाई है. मैं अनुशासित हो गई हूं. मेरी मां चाहती थीं कि मैं एक प्रोफेसर, शिक्षिका बनूं लेकिन मैंने प्लान्स तय कर लिए थे."

यह भी पढ़ें: Sanjay Dutt की बेटी त्रिशला के फैन ने किया शादी के लिए प्रपोज, जवाब में आया ये ट्विस्ट