पाकुड़, 25 मई (भाषा) झारखंड के बांग्लादेश के सीमावर्ती पाकुड़ जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में शिक्षा देने के नाम पर प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) द्वारा संगठन विस्तार किये जाने की सूचना से पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया है और पूरे मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि बांग्लादेश के सीमावर्ती इलाकों में पीएफआई की बढ़ती गतिविधियों के मद्देनजर पुलिस ने संगठन के पुराने नेता मोहम्मद हंजला से मंगलवार को मुफस्सिल थाने में पूछताछ की।

पाकुड़ के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) अजित कुमार विमल ने हंजला से कई बिंदुओं पर पूछताछ की है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हंजला द्वारा दी गयी जानकारी के आधार पर उन्होंने सदर प्रखंड के नवादा पंचायत में संचालित एक स्कूल का भी निरीक्षण किया।

सूत्रों ने बताया कि मौके पर उन्होंने ग्रामीणों से भी पूछताछ की। उन्होंने बताया कि पुलिस एवं खुफिया एजेंसियों को इस स्कूल के माध्यम से पीएफआई संगठन के विस्तार की कोशिशों की जानकारी मिली थी।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के मद्देनजर जहां सभी सरकारी और गैर सरकारी शिक्षण संस्थान बंद है तो फिर उक्त स्कूल किसकी अनुमति से संचालित हो रहा था पुलिस यह भी पता करने में जुट गयी है । फिलहाल पुलिस के द्वारा पीएफआई नेता से की गयी पूछताछ के बारे में कोई विवरण नहीं दिया गया है।

पुलिस की ओर से इस मामले में सिर्फ छानबीन जारी रहने की बात कही जा रही है।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार खुफिया विभाग भी पीएफआई की एकाएक बढ़ी गतिविधियों को ले सक्रिय हो गया है। सूत्रों के अनुसार जिस विद्यालय में शिक्षा के नाम पर पीएफआई की गतिविधियां संचालित होने की जानकारी मिली थी उसके शिक्षक भी भूमिगत हो गये हैं।

भाषा सं इन्दु रंजन

रंजन