तमिलनाडु में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में बीजेपी पहले से ही तमिलनाडु पर नजर बनाए हुए हैं. वहीं, रविवार को पीएम मोदी ने तमिलनाडु में चेन्नई मेट्रो रेल के पहले चरण के विस्तार का उद्घाटन किया और रेलवे समेत अलग-अलग क्षेत्रों की करोड़ों रुपयों की विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखी.

उन्होंने कहा कि विश्व बड़े उत्साह और सकारात्मकता के साथ भारत की ओर से देख रहा है. भारत की 130 करोड़ जनता के कठिन परिश्रम की बदौलत यह दशक भारत का होने वाला है. इस अवसर पर मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि इस साल का बजट सुधारों के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है.

चंडीगढ़ के नर्सिंग कॉलेज छात्र को पाकिस्तानी आतंकियों ने दी थी जम्मू में IED लगाने के निर्देश

वहीं स्वास्थ्य क्षेत्र के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘‘ मानवता का रुख रखते हुए भारत कोविड-19 के खिलाफ विश्व के संघर्ष में बड़ा योगदान दे रहा है.’’

प्रधानमंत्री प्रत्यक्ष तौर पर महामारी के खिलाफ लड़ाई में अहम टीके को दूसरे देशों को मुहैया कराने के भारत के प्रयास का हवाला दे रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘‘हमें वह करना जारी रखना होगा जो भी हम देश के विकास और दुनिया को एक बेहतर जगह बनाने के लिए कर सकते हैं. हमारे देश के संविधान निर्माता हमसे यही चाहते थे.’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां स्वदेश निर्मित अर्जुन मुख्य युद्धक टैंक (एमके-1ए) को सेना को सौंपा.

यहां आयोजित एक समारोह में उन्होंने इस अत्याधुनिक टैंक की सलामी भी ली. रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) के यहां स्थित युद्धक वाहन अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान द्वारा निर्मित इस अत्याधुनिक टैंक का डिजाइन देश में ही तैयार और विकसित किया गया है.

इस परियोजना में 15 शैक्षणिक संस्थान, आठ प्रयोगशालाएं और कई सुक्ष्म एवं लघु उद्योग प्रतिष्ठान भी शामिल थे.

नेहरू इंडोर स्टेडियम में हुए भव्य समारोह में मोदी ने उत्तरी चेन्नई में वाशरमैनपेट को विमको नगर से जोड़ने वाले मेट्रो के 9.01 किलोमीटर लंबे भाग का उद्घाटन किया. इस परियोजना में 3,770 करोड़ रुपये का खर्च आया है.

'करीब 18 ताबूत खाली भिजवाने पड़े थे', पुलवामा हमले की बरसी पर इंडियन आर्मी का ये Video आंखे नम कर देगा

उन्होंने कहा कि इस परियोजना का कार्य महामारी के बाद भी तय समय-सीमा के अनुसार पूरा हुआ और भारतीय इंजीनियरों द्वारा यहां निर्माण और रेलवे वाहनों से संबंधित स्थानीय खरीद से ’आत्मनिर्भर भारत’ की अवधारणा को बल मिला.

इस विस्तार की वजह से पहले चरण की कुल लंबाई 54.05 किलोमीटर हो गई है और लोग उत्तर चेन्नई क्षेत्र से मेट्रो का इस्तेमाल करते हुए दक्षिण में हवाई अड्डे तक की यात्रा कर सकते हैं.

मोदी ने चेन्नई बीच अट्टीपट्टू की चौथी लाइन और विल्लुपुर की मयलादुथुरई तंजावुर/मयलादुथुरई तिरुवुर एकल रेल लाइन के विद्युतीकरण को राष्ट्र को समर्पित किया.

उन्होंने आईआईटी मद्रास में एक डिस्कवरी कैंपस की आधारशिला भी रखी, जिसका निर्माण पहले चरण में 1,000 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से नजदीकी थय्यूर में किया जाएगा. कैंपस का निर्माण दो लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में किया जाएगा. भाषण में प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में इन परियोजनाओं का उद्घाटन नवाचार और स्वदेशी विकास का प्रतीक है.

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि इस साल का बजट सुधारों के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है.

उन्होंने कहा कि विश्व बड़े उत्साह और सकारात्मकता के साथ भारत की ओर से देख रहा है. भारत की 130 करोड़ जनता के कठिन परिश्रम की बदौलत यह दशक भारत का होने वाला है. उन्होंने कहा कि देश ढांचागत निर्माण और सामाजिक बुनियादों को भी ‘तेज गति’ से बढ़ा रहा है और इसके पास अब बड़े ढांचागत निर्माणों में से एक है.

पुलवामा हमले की बरसी: Omar Abdullah बोले- मुझे और मेरे पिता Farooq Abdullah को नजरबंद किया गया

उन्होंने जल संरक्षण के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि यह सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दा नहीं है बल्कि वैश्विक मुद्दा है. उन्होंने कहा, ‘‘बूंद-बूंद के साथ ज्यादा फसल.’’

कार्यक्रम में तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित, मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी, उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम तथा मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य, सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता एम थंबीदुरई, के पी मनुस्वामी और गठबंधन में शामिल दलों के नेताओं ने शिरकत की.

नेहरू इंडोर स्टेडियम के परिसर से लेकर शहर के पेरियामेट इलाके में त्रिस्तरीय कड़ी सुरक्षा की गई थी. प्रधानमंत्री की संक्षिप्त यात्रा के लिए सुरक्षा उपायों के तहत यातायात मार्ग बदला गया था और पुलिस कर्मियों की भारी तैनाती की गई थी.

कार्यक्रम स्थल पर कई युवा मुख्यमंत्री की प्रशंसा करने वाले टीशर्ट पहने थे और कई ने मोदी और पलानीस्वामी की प्रशंसा करते हुए नारे लगाए. इससे पहले प्रधानमंत्री यहां हवाई अड्डे से आईएनएस अदयार हेलीकॉप्टर में सवार होकर समारोह स्थल पहुंचे.

इस दौरान बड़ी संख्या में समर्थक और जनता प्रधानमंत्री को शुभकामनाएं देने के लिए जमा हुई और कालाकरों ने उनके स्वागत में पारंपरिक वाद्य यंत्रों से संगीत बजाया.

मोदी, पलानीस्वामी और पन्नीरसेल्वम ने एक कार्यक्रम में दिवंगत मुख्यमंत्रियों एम. जी. रामचंद्रन (अन्नाद्रमुक के संस्थापक) और जे. जयललिता की तस्वीरों पर पुष्पांजलि अर्पित की.

ऋषभ पंत के इस चीते वाले कैच पर धोनी को भी गर्व होगा, Video देखें