बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के घर पर भीड़ ने हमला कर दिया. भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया और आगजनी भी की. इसे काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी जिसमें दो लोगों की मौत हो गई है.

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर कमल पंत ने ANI से कहा कि इस मामले में हुई हिंसा में 2 लोगों की मौत और एडिशनल कमिश्नर समेत 60 पुलिसवाले घायल हुए हैं. इसके साथ ही पोस्ट डालने वाले आरोपी नवीन को गिरफ्तार कर लिया है. इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है.

बताया जा रहा है कि विधायक के भतीजे ने कथित तौर पर एक पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर किया था, जिसके विरोध में भीड़ ने ये हमला किया. कर्नाटक के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि ये जांच का विषय है.तोड़फोड़ किसी समस्या का समाधान नहीं है. अतिरिक्त बल को तैनात किया गया है, उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

बेंगलुरु के ज्वाइंट कमिश्नर संदीप पाटिल ने ANI को जानकारी दी है कि सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर इस मामले में हिंसा फैलाने के आरोप 110 लोगों को अरेस्ट किया गया है.

पीटीआई के मुताबिक- विधायक श्रीनिवास मूर्ति ने एक वीडियो मैसेज में कहा कि मैं अपने मुस्लिम भाइयों से अपील कर रहा हूं कि हमें कुछ उपद्रवियों द्वारा की गई गलती के लिए हिंसा का सहारा नहीं लेना चाहिए.लड़ने की कोई जरूरत नहीं है. हम सब भाई हैं. हम उस व्यक्ति को कानून के अनुसार सजा दिलवाएंग. मैं मुस्लिम दोस्तों से शांत रहने की अपील करता हूं.