(ललित के. झा)

वाशिंगटन, 25 मई (भाषा) अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने मिस्र के अपने समकक्ष अब्देल फतेह अल-सिसी से पश्चिम एशिया में शांति प्रक्रिया और गाजा पट्टी पर मानवीय सहायता पहुंचाने की तत्काल आवश्यकता पर चर्चा की।

व्हाइट हाउस ने सोमवार को बताया कि बाइडन ने इज़राइल और गाजा की हालिया लड़ाई को खत्म करने और वहां दोबारा हिंसा ना हो यह सुनिश्चित करने के लिए अमेरिका के साथ उसकी सफल कूटनीति एवं समन्वय के लिए मिस्र का आभार व्यक्त किया।

गाजा में जरूरमंदों को तत्काल मानवीय सहायता मुहैया कराने और पुनर्निर्माण के प्रयासों का इस तरह समर्थन करने की वहां के लोगों को इससे फायदा पहुंचे, हमास को नहीं जैसे मुद्दों पर दोनों नेताओं ने चर्चा की।

बाइडन ने सोमवार को अपने विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन से पश्चिम एशिया जाकर इज़राइल और फलस्तीन के नेताओं सहित अन्य क्षेत्रीय नेताओं से मुलाकात करने और दोनों पक्षों के बीच संघर्ष विराम के दौरान शांति प्रक्रिया बढ़ाने को कहा था।

बाइडन ने कहा था, ‘‘ इज़राइल और हमास के बीच संघर्ष विराम के लिए गहन कूटनीतिक अभियान के बाद मैंने विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन से इस सप्ताह पश्चिम एशिया का दौरा करने को कहा है। अपने दौरे में ब्लिंकन इज़राइल के नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे। ’’

विदेश मंत्रालय के अनुसार ब्लिंकन यरुशलम, रामल्ला, काहिरा और अम्मान की यात्रा करेंगे। इस दौरान वह इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, फलस्तीनी प्राधिकार के राष्ट्रपति महमूद अब्बास, मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी और जॉर्डन के शाह अब्दुल्ला से मुलाकात करेंगे।

इसी महीने इज़राइल-फलस्तीन के बीच संघर्ष शुरू होने के बाद पहली बार बाइडन प्रशासन के शीर्ष मंत्री वार्ता के लिए जा रहे हैं।

बाइडन ने अल-सिसी के साथ फोन पर बात की और दोनों ने दिसम्बर में राष्ट्रीय चुनाव के लिए लीबिया की योजनाओं को कायम रखने और लीबिया से सभी विदेशी सैन्य एवं अनियमित बलों को हटाने की प्रतिबद्धता दोहराई। उन्होंने देश की पूर्ण संप्रभुता एवं स्वतंत्रता को मजबूत करने के इराक की सरकार के प्रयासों के लिए अपने समर्थन की भी पुष्टि की।

फोन पर हुई बातचीत के ब्यौरे के अनुसार, ‘‘ बाइडन ने मिस्र में मानवाधिकारों पर रचनात्मक संवाद के महत्व को रेखांकित किया। दोनों नेताओं ने अमेरिका-मिस्र संबंधों को मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई।’’