कानपुर एनकाउंटर मामले में यूपी पुलिस ने फिर से बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के दो करीबी प्रभात मिश्रा और रणबीर शुक्ला को मार गिराया है. पुलिस ने जिन तीन लोगों को बुधवार को गिरफ्तार किया था उनमें से प्रभात मिश्रा एक था. वह पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश कर रहा था. वहीं, बउआ दुबे को पुलिस ने इलावा में ढेर कर दिया.

यूपी पुलिस एडीजी (लॉ एंड ऑडर्र) प्रशांत कुमार ने बताया कि, तीन लोग जो फरीदाबाद में गिरफ्तार किए गए थे उन्हें रिमांड पर कानपुर लाया जा रहा था. उनमें से एक प्रभात मिश्रा हिरासत से हथियार छिनकर भागने की कोशिश की और वह मारा गया.

एडीजी ने बताया कि पुलिस की गाड़ी खराब हो जाने की वजह प्रभात ने भागने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहा. उसने पुलिस के हथियार से फायरिंग की जिसमें दो पुलिस जवान घायल हो गए. इसी दौरान जवाबी कार्रवाई में प्रभात मारा गया.

वहीं, इटावा के एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि, विकास दुबे के करीबी बउआ दुबे को एनकाउंटर में मार गिराया गया है. पुलिस के मुताबिक, बउआ रात में हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था. उसके साथ तीन और लोग थे. पुलिस को लूट की घटना की खबर मिली तो घेराबंदी की गई. इसी दौरान फायरिंग शुरू हो गई. फायरिंग के दौरान ही बउआ को ढेर कर दिया गया.

हालांकि, उसके तीनों अन्य साथी भागने में कामयाब हो गए. घटना के बाद इटावा में पुलिस ने अलर्ट जारी किया है. बताया जाता है कि बउआ पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा था.