मध्य प्रदेश सरकार ने आज एक बड़ा फैसला किया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में शासकीय नौकरी अब सिर्फ एमपी के बच्चों के लिए ही होगी. इसके लिए हम आवश्यक कानून बनाने जा रहे हैं.उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के संसाधन अब मध्य प्रदेश के बच्चों के लिए हैं.

मध्य प्रदेश के ही मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने इसे लेकर ट्वीट किया कि मप्र में सरकारी नौकरियां अब प्रदेश के नौजवानों को ही दी जाएंगी. मप्र सरकार ने यह ऐतिहासिक फैसला लेते हुए इस संबंध में जल्द ही कानून बनाने का फैसला किया है.

सीएम शिवराज ने ये भी कहा कि कर्मचारी कल्याण, वित्तीय प्रबंधन, बेटी बचाओ अभियान और पुलिस कर्मियों के लिए राजधानी में पृथक अस्पताल के संबंध में भी कार्रवाई की जाएगी.

सीएम ने आनंद विभाग के अल्पविराम के अन्य कार्यक्रमों के संपादन, ग्रामीण आबादी के लोगों के लिए भू-अभिलेख तैयार करने की व्यवस्था कर आवासीय भूखंड के मालिकाना हक देने के कार्य और प्रदेश सुदृढ़ कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए.