बिहार विधानसभा चुनाव के तारीखों के ऐलान के साथ ही राज्य में आचार संहिता लागू हो चुका है. बिहार चुनाव तीन फेज में संपन्न कराया जाएगा. कोरोना महामारी को देखते हुए चुनाव आयोग ने प्रोटोकॉल के तहत सारी तैयारियां कराई है, जिसमें कोरोना को लेकर प्रचार से लेकर नॉमिनेशन और मतदान तक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाएगा. इसके अलावा कोरोना मरीजों को भी मतदान कराने की व्यवस्था होगी.

Bihar Assembly Election 2020
1
कोरोना महामारी की वजह से चुनाव के लिए 7 लाख सेनिटाइजर, 46 लाख मास्क, 6 लाख फेस शिल्ड और 6 लाख PPE किट की व्यवस्था होगी.
2
एक बूथ पर एक हजार वोटर मतदान करने की व्यवस्था होगी.
3
बिहार चुनाव में मतदान का समय एक घंटा बढ़ाया गया है. मतदान सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे तक कराया जाएगा. कोरोना मरीज अंतिम एक घंटे में मतदान करेंगे.
4
इस बार चुनाव के लिए उम्मीदवारों को ऑनलाइन नॉमिनेशन कराने की सुविधा दी जाएगी. वहीं, नॉमिनेशन के लिए कार्यालय केवल दो व्यक्ति साथ होंगे और दो गाड़ियों को अनुमति होगी.
5
प्रचार में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा. केवल वर्चुअल चुनाव प्रचार की अनुमति दी गई है. वहीं, डोर टू डोर 5 से ज्यादा लोग नहीं जाएंगे.
6
दागी उम्मीदवारों को अपनी डिटेल मीडियो को देनी होगी और उम्मीदवार का अपराधिक केस सार्वजनिक किया जाएगा.
7
बिहार के 243 सीटों के लिए मतदान तीन फेज में 28 अक्टूबर, 3 नवंबर, 7 नवंबर को होगी और 10 नवंबर को मतगणना की जाएगी.
8
पहले चरण में 16 जिलों की 71 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव कराएं जाएंगे. इसके लिए मतदान की तारीख 28 अक्टूबर तय की गई है. इसके लिए 31,000 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे. पहले फेज के लिए 1 से 8 अक्टूबर तक नॉमिनेशन कराया जा सकेगा.
9
दूसरे चरण में 17 जिलों की 94 सीटों के लिए चुनाव होंगे. इसके लिए मतदान की तारीख 3 नवंबर तय की गई है. इन सीटों पर चुनाव के लिए 42,000 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे. दूसरे फेज के लिए 9 से 16 अक्टूबर तक नॉमिनेशन कराया जा सकेगा.
10
तीसरे चरण में राज्य के 15 जिलों की 78 सीटों के लिए चुनाव कराए जाएंगे. इन सीटों के लिए 7 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. इसके लिए 33500 पोलिंग स्टेशन बनाए जाएंगे. तीसरे फेज के लिए 13 से 20अक्टूबर तक नॉमिनेशन कराया जा सकेगा