बिहार के नालंदा विधानसभा सीट पर जेडीयू प्रत्याशी श्रवण कुमार ने सातवीं बार जीत हासिल की है. श्रवण कुमार के सामने कांग्रेस, एलजेपी, आरएलएसपी पार्टी की चुनौती थी लेकिन उन्हें इस चुनाव में जनतांत्रिक विकास पार्टी के कौशलेंद्र कुमार ने टक्कर दी है.

बिहार विधानसभा सीटों में नालंदा विधानसभा सीट काफी चर्चित सीट हैं. इस सीट को जेडीयू ने सातवीं बार जीतकर का कब्जा बरकरार रखा है. नालंदा सीट पर 1977 से चुनाव शुरू हुआ. ऐसा कहा जाता है कि नालंदा विधानसभा सीट पर उम्मीदवार कोई भी हो लेकिन चुनाव नीतीश कुमार ही लड़ते हैं. क्योंकि नालंदा से नीतीश कुमार का नाम जुड़ा है और जब मुखिया ही क्षेत्र से जुड़ा हो तो ये सीट प्रतिष्ठा का विषय होता है.

नालंदा विधानसभा सीट पर श्रवण कुमार 6 बार से चुनाव जीतते आ रहे हैं. अब वह 7वीं बार भी चुनाव मैदान में उतर चुके हैं. 2015 में इस सीट पर बीजेपी ने भी अपना उम्मीदवार उतारा था लेकिन श्रवण कुमार ने बीजेपी उम्मीदवार कौशलेंद्र कुमार को मात दी थी.

नालंदा नीतीश कुमार का गृह जिला है इसलिए चुनाव कोई सा भी हो जेडीयू और नीतीश कुमार के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई होती है.

नालंदा विधानसभा सीट

कुल मतदाता: 3 लाख

पुरुष मतदाता: 1.58 लाख

महिला मतदाता: 1.40 लाख