बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए प्रचार का शोर रविवार शाम छह बजे समाप्त हो गया. दूसरे चरण के चुनाव के तहत तीन नवंबर को 94 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होना है. दूसरे चरण के चुनाव में कुल 1463 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं.

प्रचार के आखिरी दिन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) उम्मीदवारों के समर्थन में, जबकि विपक्षी महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार एवं राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने महागठबंधन के प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी सभाएं और रैलियां की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सारण जिला मुख्यालय छपरा, समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी और पश्चिमी चंपारण जिला के बगहा में चुनावी रैलियों को संबोधित किया. इससे पूर्व, 28 अक्टूबर को मोदी ने दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना में चुनावी रैलियों को संबोधित किया था.

बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी और गिरिराज सिंह के अलावा अनुराग ठाकुर तथा कई केंद्रीय मंत्रियों व पार्टी के अन्य नेताओं ने भी चुनावी रैलियों को संबोधित किया.

दूसरे चरण के चुनाव के लिए महागठबंधन के उम्मीदवारों के पक्ष में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दो रैलियों को संबोधित किया.

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) के कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार विधान सभा के दूसरे चरण के तहत 94 विधान सभा क्षेत्रों में तीन नवम्बर को मतदान होना है. ये सीटें राज्य के 17 जिलों में हैं, जिनमें पश्चिमी चम्पारण, पूर्वी चम्पारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, सीवान, सारण, वैशाली, समस्तीपुर, बेगूसराय,खगड़िया, भागलपुर, नालंदा तथा पटना शामिल हैं.

चुनाव आयोग के मुताबिक दूसरे चरण के चुनाव में कुल 1463 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं, जिनमें 146 महिला तथा एक ट्रान्सजेण्डर उम्मीदवार शामिल हैं. इस चरण में कुल 2,85,50,285 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के योग्य हैं, जिनमें 1,35,16,271 महिला और 980 ट्रान्सजेण्डर मतदाता भी शामिल हैं.

महाएनडीएंज विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 27 उम्मीदवार तथा दरौली विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम चार उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं .

दूसरे चरण में बीजेपी के 44 एवं जदयू के 34 तथा आरजेडी के 52 उम्मीदवार, कांग्रेस के 22, भाकपा एवं माकपा के 4-4 उम्मीदवार के अलावा रालोसपा के 33, बसपा के 31 तथा एलजेपी के 44 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं.

इन 94 विधान सभा क्षेत्रों में तीन नवंबर को होनेवाले मतदान के लिए कुल 41,362 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं.

दूसरे चरण के चुनाव में क्षेत्रवार सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र पीरपैंती है, जबकि मतदातावार सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र दीघा तथा मतदातावार सबसे छोटा विधान सभा क्षेत्र चेरिया बरियारपुर है.

दूसरे चरण में वैसे मतदान केन्द्र, जहाँ मतदान का सामान्य

समय (पूर्वाहन 07:00 बजे से अपराहन 06:00 बजे तक) से भिन्‍न होगा, उनमें दरभंगा जिला का कुशेश्वरस्थान एवं गौडाबौराम, मुजफ्फरपुर का मीनापुर, पारू एवं साहेबगंज एवं वैशाली जिला का राघोपुर शामिल हैं. इन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह सात बजे से अपराहन 4 बजे तक निर्धारित किया गया है .

प्रमुख उम्मीदवारों में विपक्षी महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव राघोपुर से, उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव हसनपुर से, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के समधी चंद्रिका राय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जद(यू) के टिकट पर परसा से चुनावी मैदान में हैं.

इसके अलावा, पथ निर्माण मंत्री और बीजेपी विधायक नंदकिशोर यादव (पटना साहिब), जदयू विधायक और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार (नालंदा), बीजेपी विधायक और सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह (मधुबन), और जदयू नेता और राज्य मंत्री रामसेवक सिंह ( हथुआ) से चुनावी मैदान में हैं.

पटना के बांकीपुर सीट से कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा भी दूसरे चरण में अपना भाग्य आजमा रहे हैं. उनका मुकाबला मुख्य रूप से बीजेपी विधायक नितिन नबीन से है.

हरनौत (नालंदा) निर्वाचन क्षेत्र में, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का गाँव है, भी दूसरे चरण में मतदान होने जा रहा है.