बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के पहले चरण का मतदान के बीच मुंगरे में हुए घटना पर सियासत शुरू हो गई है. मुंगेर जिले में मां दुर्गा के विसर्जन के दौरान हुए हंगामे के दौरान फायरिंग में एक शख्स की मौत हो गई. वहीं, पुलिस ने घटना के दौरान लाठीचार्ज किया, जिससे दर्जनों लोग घायल हुए. इस घटना के बाद तेजस्वी यादव और चिराग पासवान ने बिहार सरकार को 'जनरल डायर' की संज्ञा दी है.

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, तेजस्वी यादव ने मुंगेर की घटना की निंदा की और कहा, मुंगेर में हुई घटना की हम कड़ी निंदा करते हैं,घटना में 1 की मौत और कई लोग घायल हुए. लोगों को समझ नहीं आया कि पुलिस लोगों को अचानक क्यों पीटने लगी, इस घटना में डबल इंजन सरकार की भूमिका है। हम उपमुख्यमंत्री से पूछना चाहते हैं कि जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी?

वहीं, चिराग ने घटना की जांच करने की मांग करते हुए कहा, मुंगेर में गोलीबारी और लाठीचार्ज की घटना के लिए कौन जिम्मेदार है? मुख्यमंत्री अब जनरल डायर की भूमिका निभा रहे हैं जिन्होंने जलियांवाला हत्याकांड का आदेश दिया था. मुझे यकीन है कि सीएम घटना के लिए जिम्मेदार हैं, इसकी जांच की जानी चाहिए.

मुंगेर पर हो रही सियासत पर जेडीयू नेता संजय झा ने जवाब देते हुए चिराग और तेजस्वी को टीम बी बताया है. उन्होंने कहा है कि, यह साबित हो गया है कि चिराग पासवान तेजस्वी यादव की बी टीम है, अब हमें कुछ और कहने की जरूरत है? तेजस्वी की मदद के लिए यह पूरा खेल खेला जा रहा है. चिराग पासवान 'रील' के साथ-साथ अपनी असल जिंदगी में भी असफल रहे हैं.