बिहार की प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद से निष्कासित तीन विधायक सोमवार को प्रदेश में सत्तारूढ़ जनता दल (यूनाइटेड) में शामिल हो गए. बिहार में विधानसभा चुनाव अक्टूबर-नवंबर में होना है. इसी को लेकर राज्य में दल-बदल ने जोर पकड़ा हुआ है. 

इन तीन विधायकों ने थामा जदयू का हाथ 

पटना स्थित जदयू के प्रदेश मुख्यालय में सोमवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और जदयू के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव की मौजूदगी में विधायक महेश्वर प्रसाद यादव (मुजफ्फरपुर के गायघाट), प्रेम चौधरी (वैशाली के पातेपुर) और अशोक कुमार कुशवाहा (रोहतास जिले के सासाराम से विधायक) जदयू में शामिल हो गए .

फराज फातमी को भी राजद ने निष्कासित किया 

राजद ने रविवार को फराज फातमी (दरभंगा में केवटी विधानसभा क्षेत्र से विधायक) को भी पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया था. फ़राज़ भी आज अन्य विधायकों के साथ जदयू में शामिल होने वाले थे, लेकिन वह ऐसा नहीं कर सके क्योंकि वह शहर से बाहर थे. फराज पूर्व केंद्रीय मंत्री मोहम्मद अली अशरफ फातमी के बेटे हैं जो इस समय जदयू के साथ हैं.

'अपने नेता के पास वापस आ गए' 

जदयू में शामिल हुए तीनों विधायकों ने बिहार के मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख नीतीश कुमार के नेतृत्व में पूर्ण विश्वास व्यक्त किया और नीतीश के विकास कार्यों की प्रशंसा की.  ऊर्जा मंत्री एवं जदयू के वरिष्ठ नेता बिजेंद्र प्रसाद यादव ने इन विधायकों का स्वागत करते हुए कहा, 'इन विधायकों ने वर्ष 2015 में नीतीश कुमार के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव लड़ा था और इसलिए वे अपने नेता के पास वापस आ गए हैं. '