मुंबई, 23 मई (भाषा) बिड़ला समूह की कंपनी सेंचुरी टैक्सटाइल्स एण्ड इंडस्ट्रीज अब रियल एस्टेट कारोबार पर ज्यादा ध्यान देगी। कंपनी ने चालू वित्त वर्ष के दौरान रियल एस्टेट क्षेत्र में जारी मौजूदा परियोजनाओं और नई परियोजनाओं के लिये 1,000 करोड़ रुपये का पूंजी व्यय तय किया है। कंपनी की परियोजनाओं में सुपर प्रीमियम वोरली प्रोजैक्ट भी शामिल है।

सेंचुरी टैक्सटाइल्स एण्ड इंडस्ट्रीज तीन अलग अलग क्षेत्रों में कारोबार करती है। कंपनी की कागज और लुग्दी, रियल्टी और पेपर टिश्यू के क्षेत्र में अलग अलग इकाइयां हैं। उसके कुल कारोबार में 70 प्रतिशत से अधिक योगदान कागज और लुग्दी व्यवसाय का होता है। बहरहाल, अब कंपनी रियल एस्टेट की तरफ अधिक ध्यान देने जा रही है।

ए वी बिड़ला समूह की कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुये कहा कि कंपनी के अन्य दो कारोबारों के मुकाबले रियल एस्टेट क्षेत्र का पूंजी व्यय नौ गुणा अधिक है। सेंचुरी टैक्सटाइल्स ने 2016 में बिड़ला एस्टेट्स नाम से रियल एस्टेट कारोबार शुरू किया। उसके पास जमीन की अच्छी उपलब्धता है, इस लिहाज से जमीन की लागत के मामले में वह अधिक आकर्षक स्थिति में है खासकर जिन शहरों में उसका ध्यान है वहां इसका लाभ उठा सकती है। कंपनी मुंबई, उसके आसपास के इलाकों, दिल्ली एनसीआर, बेंगलूरू और पुणे में रियल्टी परियोजनाओं पर गौर कर रही है।

सेंचुरी टैक्सटाइल्स के प्रबंध निदेशक जे सी लाढा ने पीटीआई-