इंदौर (मध्य प्रदेश), 25 मई (भाषा) भारत में कोविड-19 के मौजूदा प्रकोप को लेकर अपने एक बयान के कारण भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय मंगलवार को विपक्षी कांग्रेस के निशाने पर आ गए। इस बयान में विजयवर्गीय ने देश में महामारी की दूसरी लहर के पीछे पड़ोसी चीन की भूमिका का संदेह जताया है।

बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है, जिसमें विजयवर्गीय कथित तौर पर यह कहते सुनाई पड़ रहे हैं, 'अभी कोविड-19 की जो दूसरी लहर आई है, यह लहर आई है कि भेजी गई है, यह चर्चा का विषय है क्योंकि दुनिया भर में यदि किसी देश ने चीन को चुनौती दी, तो वह भारत ने दी ... प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी।'

भाजपा महासचिव ने हिन्दी में कहा कि इस बात को लेकर बहस शुरू हो गई है कि भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर का प्रकोप क्या चीन का 'वायरल वार' है?

उन्होंने कहा, 'हमें तो लगता है कि यह भारत को परेशान करने के लिए चीन का वायरल वार है क्योंकि कोविड-19 की दूसरी लहर सिर्फ भारत में आई। बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, भूटान और अफगानिस्तान सरीखे भारत से लगे देशों में इसकी दूसरी लहर नहीं आई।'

वीडियो से स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि विजयवर्गीय 'वायरल वार' के अपने प्रयोग में हिन्दी के वार (हमला) शब्द का उच्चारण करना चाह रहे थे या उनका अभिप्राय अंग्रेजी के 'वॉर' (युद्ध) शब्द से था। इस सिलसिले में उनसे संपर्क की कोशिश की गई। लेकिन फिलहाल उनसे बात नहीं हो सकी है।

चश्मदीदों के मुताबिक विजयवर्गीय ने चीन संबंधी बयान अपने गृहनगर इंदौर में सोमवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दिया। इस कार्यक्रम में उन्होंने शहर के एक परमार्थिक ट्रस्ट की ओर से लोगों को 200 ऑक्सीजन सांद्रकों का वितरण किया।

विजयवर्गीय के चीन संबंधी बयान को लेकर उन पर निशाना साधते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा, 'क्या विजयवर्गीय यह कहना चाहते हैं कि चीन ने भारत के खिलाफ जैविक युद्ध छेड़ दिया है? वह भाजपा में एक जिम्मेदार पद पर हैं और उन्हें अपने बयान का आशय स्पष्ट करना चाहिए।'

शुक्ला ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की लापरवाही के कारण देश की जनता को महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप झेलना पड़ रहा है।

इस बीच, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने कहा, 'विजयवर्गीय विचित्र नेता हैं और उन्होंने किसी बच्चे जैसी बात कर दी है। यह बात केवल भारत नहीं, बल्कि विश्व के बच्चे-बच्चे को पता है कि कोरोना वायरस चीन से आया है।'