बीजेपी की पूर्व सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के नाम पर 1400 करोड़ रुपये का घोटाला होने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा राम मंदिर के नाम पर चुनाव के लिए चन्दा जुटा रही है. हालांकि राजभर ने अपने आरोपों के पक्ष में कोई प्रमाण पेश नहीं किया. सत्तारूढ़ भाजपा ने राजभर के इस बयान को सस्ती लोकप्रियता हासिल करने की कोशिश करार दिया है.

राजभर ने आरोप लगाया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए रोजाना 100-100 करोड़ रुपए का चंदा आ रहा है. उन्होंने कहा कि आखिर मंदिर बनाने पर कितना धन खर्च होगा, मंदिर बनाने के नाम पर 14 सौ करोड़ रुपए का घोटाला किया गया है और भाजपा राम मंदिर के नाम पर आगामी विधानसभा चुनाव के लिए चंदा जुटा रही है.

दिल्ली में 18 फरवरी से शुरू होने वाले हैं नर्सरी में दाखिले, जानें आवेदन की अंतिम तारीख

हालांकि इन आरोपों के समर्थन में राजभर ने कोई प्रमाण पेश नहीं किया.

मऊ से बसपा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और पूर्व सांसद अतीक अहमद के विरुद्ध उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा की जा रही कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार इसके जरिए हिन्दू-मुसलमान की राजनीति कर रही है.

राजभर ने कहा, ‘‘ मुख़्तार अंसारी के खिलाफ 15 मुकदमे हैं, जबकि माफिया से राजनेता बने बृजेश सिंह के खिलाफ 105 मुकदमे दर्ज हैं. धनंजय सिंह और अभय सिंह के खिलाफ 100-100 मुकदमे हैं. उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही? भाजपा सरकार को केवल मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद ही क्यों दिखाई दे रहे हैं.’’

एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी से गठबंधन के बाद भाजपा के निशाने पर आये राजभर ने कहा, ' भाजपा नेताओं शाहनवाज हुसैन और मुख्तार अब्बास नकवी ने हिन्दुओं से रोटी-बेटी का सम्बंध बनाया है, लेकिन ओवैसी से गठबंधन करने पर भाजपा नेता मुझे बोल रहे हैं कि ओम प्रकाश नमाज पढ़ने जा रहे हैं.'

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बारे में बात करते हुए भावुक हो जाते हैं, दूसरी तरफ भाजपा नेता हिन्दू और मुस्लिम की राजनीति करते हैं.

Indian Railways ट्रेन टिकट की बुकिंग पर 2000 रुपये तक का कैशबैक! जानें क्या है तरीका

इस बीच, राजभर के बयान पर भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा,‘‘ राजभर अपने बे-सिर पैर के बयानों के लिए जाने जाते हैं. उनका ताजा बयान सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का एक हथकंडा मात्र है. उनके बयानों को उस समुदाय का भी समर्थन नहीं हासिल है जिसकी वह राजनीति करते हैं.’’

त्रिपाठी ने दावा किया कि सभी हिंदू और गैर हिंदू वर्ग अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में सहयोग कर रहे हैं.

मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर राजभर के बयान के बारे में भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ राजभर की मंशा उन्हीं लोगों के साथ जाने की है जो अपने शासनकाल में अपराधियों को जाति और धर्म के चश्मे से देखते थे.’’

उन्होंने दावा किया कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार जाति और धर्म का भेद किए बगैर अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जारी रखेगी.

VIDEO: उत्तराखंड तपोवन सुरंग में रेस्क्यू जारी, अब तक 32 शव बरामद, 206 लापता