रायपुर, 22 मई (भाषा) छत्तीसगढ़ में कथित टूल किट मामले में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने शनिवार को थानों के सामने धरना देकर अपनी गिरफ्तारी की मांग की।

राज्य में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ टूल किट के मामले में कांग्रेस द्वारा कराई गई एफआईआर को लेकर शनिवार को राज्य के जिला मुख्यालयों में पांच-पांच प्रमुख पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और जनप्रतिनिधियों ने कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए थानों के सामने धरना देकर अपनी गिरफ्तारी की मांग की।

उन्होंने बताया कि इस दौरान भाजपा नेताओं ने कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार दबाव और दमन के अपने राजनीतिक चरित्र का परिचय दे रही है। लेकिन भाजपा कार्यकर्ता एकजुट होकर पूरी ताकत के साथ रमन सिंह के साथ संघर्ष की हर परीक्षा देने को तत्पर हैं।

भाजपा नेताओं ने बताया कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सिटी कोतवाली जशपुर के सामने धरना दिया और गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने टूल किट मामले को देश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विश्व के सामने छवि खराब करने की साजिश कहा।

साय ने कहा कि यदि देश हित के खिलाफ रची जाने वाली इस साजिश को जनता के सामने लाना अपराध है तो सरकार को भाजपा के आला नेताओं के साथ हम सबके खिलाफ भी उन्हीं धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ्तार करना होगा।

भाजपा नेताओं ने बताया कि राज्य के बिलासपुर जिले में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने, राजधानी रायपुर में पूर्व मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल और राजेश मूणत ने, दुर्ग जिले के भिलाई में सांसद विजय बघेल और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने तथा अन्य नेताओं ने राज्य के अलग अलग जिलों में थाने के सामने धरना दिया।

कथित टूल किट मामला के सामने आने के बाद राज्य के सत्ताधारी दल कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ यहां के सिविल लाइंस थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने सिंह को नोटिस जारी कर कहा है कि उनसे पूछताछ करनी है इसलिए वह इस महीने की 24 तारीख को अपने निवास में उपस्थित रहें।

भाषा संजीव

जोहेब

जोहेब