नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोविड-19 के कारण अनाथ हो चुके बच्चों के लिए कल्याणकारी योजना आरंभ करने को कहा है।

उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत 30 मई को होनी चाहिए क्योंकि उसी दिन मोदी सरकार के सत्ता में आने के सात साल पूरे हो रहे हैं।

भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लिखे एक पत्र में नड्डा ने यह भी कहा कि कोरोना महामारी के चलते उत्पन्न परिस्थितियों के मद्देनजर सातवीं वर्षगांठ के मौके पर कोई समारोह का आयोजन नहीं किया जाना चाहिए और उसकी जगह सरकारें कल्याणकारी कार्यक्रमों का आयोजन कर सकती हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना ने देश व समाज पर गहरी चोट पहुंचाई है और इसके चलते कुछ बच्चों ने अपने परिजनों को खो दिया है।

उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि ऐसे बच्चों के भविष्य को संवारने की जिम्मेदारी सरकार की है और उसे इस दिशा में ठोस कदम उठाने चाहिए।

नड्डा ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि जरूरतों, परिस्थितियों ओर राज्यों की परंपरा के अनुसार वह योजना का मसौदा तैयार करें। उन्होंने कहा कि इस सिलसिले में राज्यों को जल्द ही निर्देश जारी किए जाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘अपने परिजनों को गंवा चुके बच्चों के साथ खड़ा होना और उनके सुरक्षित भविष्य के लिए सभी प्रकार की सहायता करना हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है...विचार है कि सभी भाजपा शासित राज्य एक साथ कार्यकम की शुरुआत करें जब केंद्र की भाजपा नीत सरकार के सत्ता में सात साल पूरे हों।’’

वर्तमान में भाजपा के 12 मुख्यमंत्री हैं जो विभिन्न राज्यों में सत्ता की बागडोर संभाले हुए हैं।

पिछले साल भी कोरोना के कारण लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से भाजपा ने मोदी सरकार की छठी वर्षगांठ व्यापक स्तर पर नहीं मनाया था।

नड्डा ने कहा कि विश्व ने कोरोना जैसा संकट शताब्दी में नहीं आया है और इस वैश्विक महामारी से ना सिर्फ भारत बल्कि पूरा विश्व प्रभावित हुआ है।

उन्होंने कहा कि कोरोना ने कई चुनौतियां पैदा की है और भारत मुस्तैदी से इनका सामना कर रहा है।