साओ पाउलो (ब्राजील), 28 अप्रैल (एपी) ब्राजील की सीनेट ने सरकार द्वारा कोविड-19 महामारी के प्रबंधन की जांच मंगलवार को शुरू की और विश्लेषकों का कहना है कि इस जांच से राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो की फिर से चुने जाने की उम्मीदें बाधित हो सकती हैं।

बोलसोनारो बीमारी पर नियंत्रण के लिये पाबंदियां लगाने का विरोध करने वाली दुनिया की सबसे प्रमुख शख्सियतों में से एक हैं और उन्होंने इन पाबंदियों के प्रभावों की अनदेखी की है। उन्होंने उन दवाओं के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जिन्हें वैज्ञानिक बेकार कहते हैं। आलोचकों का कहना है कि उनकी नीतियों और टीकाकरण के लिये ढुलमुल अभियान ने कोरोना वायरस के कारण दुनिया में हुई दूसरी सबसे ज्यादा मौतों में योगदान किया।

जांच का औपचारिक उद्देश्य आपराधिक आरोप नहीं है, लेकिन यह संभवत: आरोपों को जन्म दे सकती है। इतना ही नहीं 2022 में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों से पहले यह शर्मनाक आरोपों की वजह भी बन सकती है।

बोलसोनारो हालांकि कुछ भी गलत करने से इनकार करते हुए गवर्नर और मेयर को यह कहते हुए दोषी ठहराते रहे हैं कि गतिविधियों पर उनकी पाबंदियों से कोरोना वायरस से कहीं ज्यादा परेशानी हुई।

एपी

प्रशांत नरेश

नरेश