उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के शिवपुर क्षेत्र में पुलिस टीम पर हमला कर एक कांस्टेबल की हत्या के मामले का एक अभियुक्त बुधवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया. इस घटना में एक दरोगा भी बुरी तरह से घायल हो गया था. वहीं, घटना के बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना का संज्ञान लेते हुए अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

पुलिस अधीक्षक मनोज सोनकर ने बताया कि वारदात के मुख्य अभियुक्त मोती के भाई एलकार तथा उसके साथियों को पुलिस ने कावी नदी के किनारे घेर लिया.

जब महिला जज को आरोपी ने खुबसूरत बताते हुए किया प्यार का इजहार, वीडियो हो रहा वायरल

इस दौरान दोनों ओर से हुई गोलीबारी में एलकार घायल हो गया, उसे सिढ़पुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि एलकार के बाकी साथी भागने में कामयाब रहे. पुलिस उनकी गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है.

सोनकर ने बताया कि एलकार इस मामले के मुख्य अभियुक्त का भाई है.

गौरतलब है कि सिढ़पुर थाना क्षेत्र में शराब माफिया को वारंट तामील कराने गए दारोगा अशोक कुमार और सिपाही देवेंद्र को बदमाशों ने पकड़ कर बुरी तरह मारा-पीटा था जिससे देवेंद्र की मौत हो गई थी.

सरकार की ओर से मृतक सिपाही के परिजन को 50 लाख रुपए और एक आश्रित को नौकरी देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री लगातार इस घटना की लगातार निगरानी रख रहे हैं. दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के भाई के साथ झगड़ा, सस्पेंड किए गए DIG