ईटानगर, 23 मई (भाषा) अरुणाचल प्रदेश मंत्रिमंडल ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों से निपटने के लिये ऑक्सीजन युक्त 1000 बिस्तरों को तय समयसीमा में तैयार करने के लक्ष्य को हासिल करने के काम में तेजी लाने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री पेमा खांडू की अध्यक्षता में हुई एक डिजिटल बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की गई। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा रविवार को जारी बयान के मुताबिक बैठक में ऑक्सीजन सुविधायुक्त बिस्तरों, प्रेशर स्विंग एडसार्प्शन (पीएसए) संयंत्र, दवाओं, टीकों की उपलब्धता और महामारी से निपटने के उपायों पर चर्चा हुई।

इसमें कहा गया कि खांडू ने जिला प्रशासनों को निर्देश दिया है कि जिला और उप मंडल स्तर पर और खास कर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को टीकाकरण के लिये पंजीकरण करने में सहायता करने का तंत्र विकसित करें।

बैठक में फैसला किया गया कि सरकार का मुख्य ध्यान फिलहाल महामारी से निपटना है लेकिन दूसरे काम भी जारी रहने चाहिए।

मंत्रिमंडल ने इस दौरान पापुनाला से निरजुली (बी) और निरजुली से बंदरदेवा (सी) चार-लेन राजमार्ग (एनएच-415) के लिये पैकेज बी और सी की स्थिति की समीक्षा की। मंत्रिमंडल ने दोनों पैकेजों के लिये विध्वंस की लागत को प्रोत्साहन के तौर पर देने तथा कोलमा में डिक्रोंग नदी के ऊपर वाया-डक्ट के निर्माण के लिये भूमि मुआवजे के भुगतान के प्रस्तावों को भी मंजूरी दी।

मंत्रिमंडल की बैठक में इसके अलावा कुछ और प्रस्तावों को भी मंजूरी दी गई।